• भूपेंद्र पटेल ने अपने पास रखा गृह और शहरी विकास मंत्रालय, कनुभाई देसाई को मिला वित्त विभाग

विज्ञप्ति में कहा गया है कि मुख्यमंत्री पटेल, गृह विभाग के अलावा सामान्य प्रशासन विभाग ,सूचना एवं प्रसारण, उद्योग, खान एवं खनिज, शहरी विकास, शहरी आवास और नर्मदा तथा बंदरगाह विभाग का प्रभार भी अपने पास रखेंगे।

अहमदाबाद। गुजरात के नवनियुक्त मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल ने बृहस्पतिवार को नई मंत्रिपरिषद में विभागों का आवंटन किया और गृह सहित कई विभाग अपने पास ही रखे तथा कोई उपमुख्यमंत्री नियुक्त नहीं किया। एक आधिकारिक विज्ञप्ति के मुताबिक, उन्होंने कनुभाई देसाई को वित्त एवं ऊर्जा और पेट्रोकेमिकल्स विभाग की जिम्मेदारी सौंपी है। 

इसे भी पढ़ें: हिट रहा पीएम मोदी का 'पूरे घर को बदल डालूंगा' वाला फॉर्मूला, पहले भी कर चुके हैं प्रयोग

विज्ञप्ति में कहा गया है कि मुख्यमंत्री पटेल, गृह विभाग के अलावा सामान्य प्रशासन विभाग ,सूचना एवं प्रसारण, उद्योग, खान एवं खनिज, शहरी विकास, शहरी आवास और नर्मदा तथा बंदरगाह विभाग का प्रभार भी अपने पास रखेंगे।

किसे मिला कौन सा विभाग

जीतू वाघनी: शिक्षा विभाग

राजेंद्र त्रिवेदी: रेवेन्यू और लॉ ऑर्डर विभाग

पूर्णेश मोदी: मार्ग और मकान विभाग

ऋषिकेश पटेल: आरोग्य और परिवार कल्याण

राघव जी पटेल: कृषि पशुपालन और गौ संवर्धन 

नरेश पटेल: जाति विकास विभाग

अर्जुन जी चौहान: ग्रामीण विकास विभाग

कनु देसाई: वित्त और पेट्रोकेमिकल्स विभाग 

21 विधायक पहली बार मंत्री बने

गुजरात में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले एक अभूतपूर्व कदम उठाते हुए भाजपा ने नवनियुक्त मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल के मंत्रिपरिषद में 24 नए सदस्यों को शामिल किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गृह राज्य में बनाए गए इन नए मंत्रियों में 21 पहली बार मंत्री बने हैं। नई मंत्रिपरिषद में निवर्तमान मुख्यमंत्री विजय रूपाणी की मंत्रिपरिषद के किसी सदस्य को शामिल नहीं किया गया है। 

इसे भी पढ़ें: गुजरात में 12 साल तक CM रहे मोदी, अब उनके बाद कोई मुख्यमंत्री आख़िर टिक क्यों नहीं पा रहा? 

राजनीतिक पर्यवेक्षकों का कहना है कि साल 2022 के विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा मंत्रिपरिषद के नए स्वरूप से महत्वपूर्ण प्रभाव छोड़ना चाहती है। उन्होंने कहा कि पार्टी मतदाताओं का सामना साफ सुथरे चेहरों से करना चाहती है। प्रधानमंत्री मोदी ने मंत्रिपरिषद के नये सदस्यों को बधाई दी।