लव जिहाद पर बोले संजय राउत, नीतीश कुमार पहले लाएं कानून फिर हम सोचेंगे

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 23, 2020   15:34
  • Like
लव जिहाद पर बोले संजय राउत, नीतीश कुमार पहले लाएं कानून फिर हम सोचेंगे

राज्यसभा सदस्य ने कहा कि महाराष्ट्र के कुछ प्रमुख भाजपा नेता पूछ रहे हैं कि (राज्य में) कब ‘लव जिहाद’ के खिलाफ कानून बनाया जाएगा। मैंने आज सुबह मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से इसपर बात की।

मुंबई। शिवसेना सांसद संजय राउत ने सोमवार को कहा कि पहले नीतीश कुमार नीत बिहार सरकार को ‘लव जिहाद’ के खिलाफ कानून लाने दें, उसके बाद महाराष्ट्र सरकार इस संबंध में विचार करेगी। राउत ने यहां पत्रकारों से बातचीत में कहा कि महाराष्ट्र में भाजपा के कुछ वरिष्ठ नेता ‘लव जिहाद’ के खिलाफ कानून की मांग कर रहे हैं। गौरतलब है कि भाजपा नेता और पूर्व मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस ने पिछले सप्ताह कहा था कि देश में ‘लव जिहाद’ की घटनाएं हो रही हैं और ऐसे में इससे निपटने के लिए कानून बनाना उचित है। भाजपा शासित कुछ राज्यों ने इस तथाकथित ‘लव जिहाद’ को रोकने के लिए अपनी-अपनी योजनाओं की घोषणा की है। 

इसे भी पढ़ें: संजय राउत का दावा, विरोध के लिए उद्धव सरकार के हर फैसले का विरोध कर रही है भाजपा 

राउत ने कहा कि संभवत: भाजपा पश्चिम बंगाल में आसन्न विधानसभा चुनावों के मद्देनजर इस मुद्दे को उछाल रही है। राज्यसभा सदस्य ने कहा, ‘‘महाराष्ट्र के कुछ प्रमुख भाजपा नेता पूछ रहे हैं कि (राज्य में) कब ‘लव जिहाद’ के खिलाफ कानून बनाया जाएगा। मैंने आज सुबह मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से इसपर बात की।’’ शिवसेना के मुख्य प्रवक्ता ने कहा, ‘‘इस मुद्दे पर हम सिर्फ यह कहना चाहते हैं कि पहले (भाजपा शासित) उत्तर प्रदेश और मध्यप्रदेश में कानून बनने दें। लेकिन, जब बिहार में कानून बनेगा, जब नीतीश कुमार जी इसे बनाएंगे, तब हम उसका समग्रता में अध्ययन करेंगे।’’ राउत ने कहा कि उसके बाद हम महाराष्ट्र में इसपर विचार करेंगे।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


राजस्थान सड़क हादसे में मध्य प्रदेश के 8 लोगों की मौत,राजगढ़ जिले का रहने वाला था परिवार

  •  मनीष सोनी
  •  जनवरी 28, 2021   07:30
  • Like
राजस्थान सड़क हादसे में मध्य प्रदेश के 8 लोगों की मौत,राजगढ़ जिले का रहने वाला था परिवार

जीरापुर थाना प्रभारी रमाकांत उपाध्याय ने बताया कि टोंक पुलिस से सूचना मिलने के बाद परिवार के लोगों को हादसे की सूचना दे दी गई है। वही दुर्घटना की सूचना मिलने के बाद मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा ने इस पर शोक जताया है।

राजगढ़। राजस्थान के टोंक जिले के सदर थाना क्षेत्र में मंगलवार देर रात तेज रफ्तार ट्रेलर और जीप की भिड़ंत मे मध्य प्रदेश के रहने वाले एक ही परिवार के आठ लोगों की मौत हो गई,जबकि चार घायल हो गए।इस दुर्घटना में तीन वर्ष की बच्ची नन्नू सुरक्षित बच गई। घायलों को उपचार के लिए जयपुर भेजा गया है। मृतकों में चार पुरुष, दो महिलाएं और दो बच्चे शामिल हैं। दुर्घटना का शिकार परिवार खाटू श्यामजी के दर्शन करके जीरापुर (राजगढ़ )लौट रहा था।

इसे भी पढ़ें: राज्यपाल की ओर से 12 स्वतंत्रता संग्राम सेनानी हुए सम्मानित

हादसा राष्ट्रीय राजमार्ग 52 पर पक्का बंधा क्षेत्र में हुआ। इसमें ट्रेलर से टकराने के बाद सवारी वाहन पुलिया की दीवार से टकरा गया। जिसके कारण दुर्घटना के बाद वाहन में संवार लोग फंस गए। हादसे मे कुछ लोगों की मौके पर ही मौत हो गई, वहीं कुछ की अस्पताल पहुँचने के बाद मौत हो गई। हादसे मे मरने वाले सभी 8 लोग एक ही परिवार के थे। इनमें से एक महिला और एक बच्चा उज्जैन जिले के मक्सी में रहते थे, जबकि एक बच्ची माकड़ोन निवासी थी।

  

इसे भी पढ़ें: पद्म पुरस्कारों ने बढ़ाया मध्य प्रदेश का गौरव- विष्णुदत्त शर्मा

दुर्घटना के मृतकों में राधेश्याम सोनी (48) निवासी जीरापुर,  रामबाबू सोनी (37) निवासी जीरापुर,ललित सोनी ( 24)निवासी जीरापुर, नयन सोनी (15 )निवासी जीरापुर,अक्षत सोनी (7) निवासी मक्सी, ममता सोनी (28 ) निवासी मक्सी,बबली उर्फ संतोष सोनी (28 ) निवासी जीरापुर,अक्षिता सोनी (8) निवासी माकड़ोन शामिल है। एक तीन वर्ष की बालिका नन्नु को हादसे में खरोंच तक नहीं आई। चारों घायलों का जयपुर एसएमएस मे उपचार जारी है। जीरापुर थाना प्रभारी रमाकांत उपाध्याय ने बताया कि टोंक पुलिस से सूचना मिलने के बाद परिवार के लोगों को हादसे की सूचना दे दी गई है। वही दुर्घटना की सूचना मिलने के बाद मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा ने इस पर शोक जताया है। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


राज्यपाल की ओर से 12 स्वतंत्रता संग्राम सेनानी हुए सम्मानित

  •  दिनेश शुक्ल
  •  जनवरी 27, 2021   23:57
  • Like
राज्यपाल की ओर से 12 स्वतंत्रता संग्राम सेनानी हुए सम्मानित

इसके तहत राजभवन के अधिकारियों द्वारा स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों को राज्यपाल की ओर से गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएँ सहित शॉल, श्रीफल और मिठाई भेंट कर सम्मानित किया।

भोपाल। राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने कोविड-19 संक्रमण की स्थितियों को देखते हुए मध्य प्रदेश के 12 स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के निवास पर जाकर उन्हें सम्मानित करने की व्यवस्था कराई है। इसके तहत राजभवन के अधिकारियों द्वारा स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों को राज्यपाल की ओर से गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएँ सहित शॉल, श्रीफल और मिठाई भेंट कर सम्मानित किया।

इसे भी पढ़ें: पद्म पुरस्कारों ने बढ़ाया मध्य प्रदेश का गौरव- विष्णुदत्त शर्मा

भोपाल में निवासरत स्वतंत्रता सेनानियों को राज्यपाल की ओर से सम्मानित किया गया। इनमें श्री देवीशरण, श्रीमती पार्वती देवी, श्रीमती सावित्री देवी, श्रीमती चंद्रावती सिंह, श्री मुफ्ती अब्दुल रज्जाक, श्री मुख्तार खान, श्री हबीब नजर, श्री माणिकचंद चौबे, श्री नारायण प्रसाद नरोलिया, श्री मोहम्मद जमीर, श्री लक्ष्मीकांत मिश्रा और श्रीमती नारायणी देवी शामिल है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


पद्म पुरस्कारों ने बढ़ाया मध्य प्रदेश का गौरव- विष्णुदत्त शर्मा

  •  दिनेश शुक्ल
  •  जनवरी 27, 2021   23:48
  • Like
पद्म पुरस्कारों ने बढ़ाया मध्य प्रदेश का गौरव- विष्णुदत्त शर्मा

मध्य प्रदेश के लोग उनके साथ इस परंपरा को बढ़ाने में सहयोग प्रदान करेंगे। वहीं, श्रीमती भूरी बाई जी को जो सम्मान दिया है वह उनके प्रयास और कलाजगत में की गई मेहनत का सम्मान है और यह केवल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में ही मुमकिन है।

भोपाल। पूर्व लोकसभा अध्यक्ष श्रीमती सुमित्रा महाजन, कलाकार श्रीमती भूरी बाई और डॉ. कपिल तिवारी जी को जो पद्म पुरस्कार मिले हैं, उनसे मध्य प्रदेश का गौरव बढ़ा है, हम सभी इससे गौरान्वित हैं। प्रधानमंत्री जी ने जिस तरह से ये अवार्ड प्रदान किए हैं उनसे मध्य प्रदेश की कला और संस्कृति को पहचान मिली है। यह बात भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद विष्णुदत्त शर्मा ने पद्म पुरस्कार से सम्मनित श्रीमती भूरी बाई एवं डॉ. कपिल तिवारी से भेंट के अवसर पर कही।

 

इसे भी पढ़ें: टोपी पहनकर संविदा स्वास्थ्य कर्मचारियों ने नियमितीकरण की मांग को लेकर किया प्रदर्शन

विष्णुदत्त शर्मा मंगलवार को पद्श्री श्रीमती भूरी बाई एवं डॉ. कपिल तिवारी के निवास पर पहुंचे और उन्हें बधाई दी। शर्मा ने पद्म विजेताओं का मुंह मीठा कराया और उनका सम्मान भी किया। इस अवसर पर प्रदेश सह संगठन मंत्री हितानंद शर्मा, वरिष्ठ नेता उमाशंकर गुप्ता, राहुल कोठारी, जिला अध्यक्ष सुमित पचौरी भी उपस्थित थे। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा ने मीडिया से चर्चा के दौरान कहा डॉ. कपिल तिवारी जी को जो सम्मान दिया है, वह मध्य प्रदेश के लिए गौरव की बात है। डॉ.तिवारी जो शिक्षा और साहित्य के क्षेत्र में जो काम कर रहे हैं, वह भारत को पहचान दिलाने वाला है। आने वाले समय में पूरे मध्य प्रदेश के लोग उनके साथ इस परंपरा को बढ़ाने में सहयोग प्रदान करेंगे। वहीं, श्रीमती भूरी बाई जी को जो सम्मान दिया है वह उनके प्रयास और कलाजगत में की गई मेहनत का सम्मान है और यह केवल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में ही मुमकिन है।

 

इसे भी पढ़ें: मध्य प्रदेश के अनूपपुर में किसान आंदोलन के समर्थन में निकली ट्रैक्टर रैली

प्रधानमंत्री मोदी जी ने हमेशा विश्व पटल पर भारत की संस्कृति को नई पहचान देने के लिए प्रयासरत रहे हैं। शर्मा ने कहा कि जनजातीय क्षेत्र में एक छोटे से स्थान पर रहते हुए श्रीमती भूरी बाई जी ने अपनी कला से भारतीय संस्कृति को उकेरने और संरक्षित करने का जो काम किया है, वह मध्य प्रदेश के लिए गौरव की बात है। इन विभूतियों को मिले सम्मान से आज हम सभी मध्य प्रदेशवासी गौरवान्वित हैं।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept