लव जिहाद पर बोले संजय राउत, नीतीश कुमार पहले लाएं कानून फिर हम सोचेंगे

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 23, 2020   15:34
लव जिहाद पर बोले संजय राउत, नीतीश कुमार पहले लाएं कानून फिर हम सोचेंगे

राज्यसभा सदस्य ने कहा कि महाराष्ट्र के कुछ प्रमुख भाजपा नेता पूछ रहे हैं कि (राज्य में) कब ‘लव जिहाद’ के खिलाफ कानून बनाया जाएगा। मैंने आज सुबह मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से इसपर बात की।

मुंबई। शिवसेना सांसद संजय राउत ने सोमवार को कहा कि पहले नीतीश कुमार नीत बिहार सरकार को ‘लव जिहाद’ के खिलाफ कानून लाने दें, उसके बाद महाराष्ट्र सरकार इस संबंध में विचार करेगी। राउत ने यहां पत्रकारों से बातचीत में कहा कि महाराष्ट्र में भाजपा के कुछ वरिष्ठ नेता ‘लव जिहाद’ के खिलाफ कानून की मांग कर रहे हैं। गौरतलब है कि भाजपा नेता और पूर्व मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस ने पिछले सप्ताह कहा था कि देश में ‘लव जिहाद’ की घटनाएं हो रही हैं और ऐसे में इससे निपटने के लिए कानून बनाना उचित है। भाजपा शासित कुछ राज्यों ने इस तथाकथित ‘लव जिहाद’ को रोकने के लिए अपनी-अपनी योजनाओं की घोषणा की है। 

इसे भी पढ़ें: संजय राउत का दावा, विरोध के लिए उद्धव सरकार के हर फैसले का विरोध कर रही है भाजपा 

राउत ने कहा कि संभवत: भाजपा पश्चिम बंगाल में आसन्न विधानसभा चुनावों के मद्देनजर इस मुद्दे को उछाल रही है। राज्यसभा सदस्य ने कहा, ‘‘महाराष्ट्र के कुछ प्रमुख भाजपा नेता पूछ रहे हैं कि (राज्य में) कब ‘लव जिहाद’ के खिलाफ कानून बनाया जाएगा। मैंने आज सुबह मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से इसपर बात की।’’ शिवसेना के मुख्य प्रवक्ता ने कहा, ‘‘इस मुद्दे पर हम सिर्फ यह कहना चाहते हैं कि पहले (भाजपा शासित) उत्तर प्रदेश और मध्यप्रदेश में कानून बनने दें। लेकिन, जब बिहार में कानून बनेगा, जब नीतीश कुमार जी इसे बनाएंगे, तब हम उसका समग्रता में अध्ययन करेंगे।’’ राउत ने कहा कि उसके बाद हम महाराष्ट्र में इसपर विचार करेंगे।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...