संजीव भट्ट की जमानत याचिका से जुड़े HC के आदेश में हस्तक्षेप नहीं: SC

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: May 10 2019 3:17PM
संजीव भट्ट की जमानत याचिका से जुड़े HC के आदेश में हस्तक्षेप नहीं: SC
Image Source: Google

प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली एक पीठ ने कहा कि उच्च न्यायालय ने पहले ही भट्ट को यह स्वतंत्रता दे रखी है कि अगर मुकदमा छह महीने की अवधि के अंदर खत्म नहीं होता है तो वह राहत के लिए फिर उसके पास आ सकते हैं।

नयी दिल्ली। उच्चतम न्यायालय ने दो दशक पुराने मादक द्रव्य जब्त किये जाने के एक मामले में पूर्व आईपीएस अधिकारी संजीव भट्ट की जमानत याचिका खारिज किये जाने के गुजरात उच्च न्यायालय के सात मार्च के आदेश पर गुरुवार को हस्तक्षेप से इनकार कर दिया। प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली एक पीठ ने कहा कि उच्च न्यायालय ने पहले ही भट्ट को यह स्वतंत्रता दे रखी है कि अगर मुकदमा छह महीने की अवधि के अंदर खत्म नहीं होता है तो वह राहत के लिए फिर उसके पास आ सकते हैं।

भाजपा को जिताए

इसे भी पढ़ें: अयोध्या मामले में मध्यस्थता समिति ने सौंपी अंतरिम रिपोर्ट, सुप्रीम कोर्ट में आज होगी सुनवाई

भट्ट पिछले साल सितंबर से जेल में हैं। इस पीठ में न्यायमूर्ति दीपक गुप्ता और संजीव खन्ना भी शामिल हैं। पीठ ने कहा, “इसी के अनुरूप याचिका खारिज की जाती है। हम यह स्पष्ट करना चाहते हैं कि हमने मामले के गुण-दोष को लेकर कोई राय व्यक्त नहीं की है।”भट्ट ने उच्च न्यायालय के फैसले के खिलाफ उच्चतम न्यायालय में याचिका दायर की थी। 

इसे भी पढ़ें: अनिल अंबानी की बढ़ेंगी मुश्किलें, RCom पर दिवालिया कार्रवाई शुरू



रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video