अब दिग्विजय सिंह नहीं लड़ेंगे कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव, मल्लिकार्जुन खड़गे की उम्मीदवारी का करेंगे समर्थन

Digvijay Singh
ANI
अंकित सिंह । Sep 30, 2022 12:08PM
दिग्विजय ने कहा कि खड़गे जी मेरे सीनियर हैं। मैं उस दिन उनके आवास पर गया और उनसे कहा कि अगर वह दाखिल कर रहे हैं तो मैं अपना नामांकन दाखिल नहीं करूंगा। उन्होंने कहा कि वह दाखिल नहीं करेंगे। बाद में, मुझे प्रेस के माध्यम से पता चला कि वह एक उम्मीदवार हैं।

कांग्रेस अध्यक्ष पद को लेकर लगातार राजनीतिक सरगर्मियां बनी हुई है। गुरुवार शाम तक इस बात की चर्चा जोरों पर थी कि दिग्विजय सिंह और शशि थरूर के बीच कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए मुकाबला हो सकता है। लेकिन आज अचानक खबर आई कि मल्लिकार्जुन खड़गे अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ेंगे। मल्लिकार्जुन खड़गे के चुनाव लड़ने की पुष्टि पार्टी के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद प्रमोद तिवारी ने की। इस खबर के आने के साथ ही दिग्विजय सिंह ने अब चुनाव नहीं लड़ने का फैसला लिया है। दिग्विजय सिंह ने साफ तौर पर कहा है कि अब मैं चुनाव नहीं लडूंगा। उन्होंने कहा कि वे (मल्लिकार्जुन खड़गे) कांग्रेस के वरिष्ठ नेता है और मैं उनका काफी आदर भी करता हूं इसलिए मैंने तय किया है कि मैं उनका (नामांकन भरने में) समर्थन करुंगा। उन्होंने कहा कि खड़गे जी मेरे सीनियर हैं। मैं उस दिन उनके आवास पर गया और उनसे कहा कि अगर वह दाखिल कर रहे हैं तो मैं अपना नामांकन दाखिल नहीं करूंगा। उन्होंने कहा कि वह दाखिल नहीं करेंगे। बाद में, मुझे प्रेस के माध्यम से पता चला कि वह एक उम्मीदवार हैं।

इसे भी पढ़ें: कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ेंगे मल्लिकार्जुन खड़गे, प्रमोद तिवारी ने किया कंफर्म

इससे पहले गुरुवार को दिग्विजय सिंह ने नामांकन फॉर्म हासिल किया था और कहा था कि मैं कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए नामांकन शुक्रवार को दाखिल करूंगा। इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा था कि कांग्रेस का अध्यक्ष कोई भी बने लेकिन गांधी परिवार के प्राथमिकता बनी रहेगी। मल्लिकार्जुन खड़गे को लेकर यह दावा किया जा रहा है कि उन्हें गांधी परिवार का समर्थन हासिल है। काफी विचार विमर्श करने के बाद उन्हें अध्यक्ष पद के लिए आगे किया गया है। पहले अशोक गहलोत खूब चर्चा में थे। हालांकि, राजस्थान में घटित राजनीतिक घटनाक्रम के बाद अशोक गहलोत ने चुनाव लड़ने का फैसला नहीं लिया है। अशोक गहलोत को लेकर भी फिलहाल संशय की स्थिति बरकरार है कि वह राजस्थान के मुख्यमंत्री बने रहेंगे या नहीं। अशोक गहलोत की मुलाकात मल्लिकार्जुन खड़गे से भी हुई है। फिलहाल मल्लिकार्जुन खड़गे राज्यसभा के सांसद हैं और नेता प्रतिपक्ष भी हैं। 

इसे भी पढ़ें: भारत जोड़ो यात्रा के दौरान राहुल का बीजेपी पर हमला, पूछा- बीजेपी-RSS को लोगों द्वारा चुनी सरकार को गिराने का क्या अधिकार?

वहीं, शशि थरूर ने पहले ही घोषणा कर दी थी कि वह कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ेंगे। शशि थरूर भी अपना नामांकन दाखिल करेंगे। शशि थरूर ने कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ने के लिए सोनिया गांधी से मुलाकात की थी। सूत्रों ने बताया कि सोनिया गांधी ने शशि थरूर से साफ तौर पर कहा था कि कोई भी यह चुनाव लड़ने के लिए स्वतंत्र हैं। गुरुवार रात में कांग्रेस के जी-23 नेताओं के भी एक बड़ी बैठक हुई। माना जा रहा है कि जी-23 की ओर से भी किसी नेता पर दांव लगाया जा सकता है। आनंद शर्मा के आवास पर मनीष तिवारी, भूपेंद्र सिंह हुड्डा और पृथ्वीराज चव्हाण जैसे नेता मौजूद रहे। कुल मिलाकर देखे तो कांग्रेस में अध्यक्ष पद को लेकर हलचल लगातार बनी हुई है। 

अन्य न्यूज़