जगदीप धनखड़ को ओम बिरला ने दी बधाई, कहा- किसान-पुत्र की उपराष्ट्रपति पद तक की यात्रा प्रेरणादायी

dhankar and birla
Twitter @ om birla
अंकित सिंह । Aug 06, 2022 9:20PM
जगदीप धनखड़ से मुलाकात की तस्वीरों को साझा करते हुए लोकसभा अध्यक्ष ने कहा कि भारत के नवनिर्वाचित उप राष्ट्रपति श्री जगदीप धनखड़ जी से भेंट कर उन्हें नए दायित्व के लिए बधाई और शुभकामनाएं दीं। विश्वास है कि संवैधानिक मूल्यों और लोकतांत्रिक परंपराओं को सशक्त बनाने में वे अहम भूमिका निभाएंगे।

उपराष्ट्रपति चुनाव में जगदीप धनखड़ को मिली जीत के बाद उन्हें लगातार बधाई मिल रही है। इन सबके बीच लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला जगदीप धनखड़ के आवास पहुंचे और उन्हें इस जीत पर बधाई दी है। इसके साथ ही ओम बिरला ने कहा कि श्री जगदीप धनखड़ जी को भारत का उपराष्ट्रपति निर्वाचित होने पर हार्दिक बधाई। उनका दीर्घ सार्वजनिक जीवन सदैव आम जनता के कल्याण के प्रति समर्पित रहा है। उन्होंने कहा कि राजस्थान के छोटे से गांव ‘किठाना’ के एक किसान-पुत्र की देश के दूसरे सर्वोच्च संवैधानिक पद तक की यात्रा प्रेरणादायी है। 

इसे भी पढ़ें: उपराष्ट्रपति चुनाव को लेकर संसदीय मंत्री प्रल्हाद जोशी का बड़ा बयान, रिकॉर्ड मार्जिन से जीत दर्ज करेंगे धनखड़

जगदीप धनखड़ से मुलाकात की तस्वीरों को साझा करते हुए लोकसभा अध्यक्ष ने कहा कि भारत के नवनिर्वाचित उप राष्ट्रपति श्री जगदीप धनखड़ जी से भेंट कर उन्हें नए दायित्व के लिए बधाई और शुभकामनाएं दीं। विश्वास है कि संवैधानिक मूल्यों और लोकतांत्रिक परंपराओं को सशक्त बनाने में वे अहम भूमिका निभाएंगे। गौरतलब है कि देश का उपराष्ट्रपति राज्यसभा का पदेन सभापति भी होता है। यह सब पहला मौका है जब लोकसभा और राज्यसभा का सभापति दोनों ही राजस्थान से होंगे। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला कोटा से सांसद हैं जबकि जगदीप धनखड़ का जन्म स्थल और कार्यक्षेत्र राजस्थान का झुंझुनू रहा है। जगदीप धनखड़ देश के पहले ओबीसी उपराष्ट्रपति भी होंगे।

इसे भी पढ़ें: पीएम मोदी ने जगदीप धनखड़ से की मुलाकात, उपराष्ट्रपति चुनाव में मिली जीत पर दी बधाई

पश्चिम बंगाल के पूर्व राज्यपाल जगदीप धनखड़ देश के नए उपराष्ट्रपति होंगे। उन्होंने उपराष्ट्रपति चुनाव में शनिवार को राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के प्रत्याशी के तौर पर 528 वोट हासिल किए और विपक्ष की साझा उम्मीदवार मार्गरेट अल्वा को पराजित किया। अधिकारियों ने बताया कि अल्वा को सिर्फ 182 वोट हासिल हुए। इस चुनाव में कुल 725 सांसदों ने मतदान किया था, जिनमें से 710 वोट वैध पाए गए, 15 मतपत्रों को अवैध पाया गया। अब 71 वर्षीय धनखड़ एम वेंकैया नायडू के स्थान पर देश के नए उपराष्ट्रपति और राज्यसभा के सभापति होंगे। वह भारत के 14वें उपराष्ट्रपति होंगे।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़