कभी नहीं सोचा था महबूबा से मेरी दोस्ती हो जाएगीः उमर

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 22, 2018   10:06
कभी नहीं सोचा था महबूबा से मेरी दोस्ती हो जाएगीः उमर

राजनीति में न कोई स्थाई दुश्मन होता और न ही कोई स्थाई दोस्त वाली कहावत उस वक्त चरितार्थ हुई जब नेशनल कान्फ्रेंस के नेता उमर ने अपने धुर विरोधी राजनीतिक दल पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी की नेता महबूबा मुफ्ती की टिप्पणियों को रिट्वीट किया।

श्रीनगर। राजनीति में न कोई स्थाई दुश्मन होता और न ही कोई स्थाई दोस्त वाली कहावत उस वक्त चरितार्थ हुई जब नेशनल कान्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने अपने धुर विरोधी राजनीतिक दल पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी की नेता महबूबा मुफ्ती की टिप्पणियों को रिट्वीट किया और कहा कि उन्होंने कभी नहीं सोचा था कि वह उनकी टिप्पणियों को रीट्वीट करेंगे।

उमर ने अपने ट्वीट में कहा, ‘‘और मैंने कभी नहीं सोचा था कि आपसे सहमत होते हुए मैं आपके किसी भी बयान को रीट्वीट करूंगा। राजनीति वाकई में अजीब संसार है। आगे की लड़ाई के लिए शुभकामनाएं।’’ उमर ने महबूबा के बयान को 15 मिनट में चार बार रीट्वीट किया।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...