अखिलेश यादव को राजभर का जवाब- तलाक स्वीकार करते हैं, अगला ठिकाना बहुजन समाज पार्टी होगी

OP Rajbhar
ANI
अंकित सिंह । Jul 23, 2022 5:10PM
समाजवादी पार्टी की ओर से एक पत्र जारी कर ओमप्रकाश राजभर से साफ तौर पर कह दिया कि जहां आपको सम्मान मिले, वहां आप जाने के लिए स्वतंत्र हैं। समाजवादी पार्टी के इस पत्र पर ओपी राजभर का भी जवाब आ गया है। ओपी राजभर ने कहा कि आज समाजवादी पार्टी ने तलाक दे दिया है और हमने उसे स्वीकार कर लिया। वक्त आने पर इसका जवाब दिया जाएगा।

समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव और गठबंधन के सहयोगी सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर के बीच रिश्ते सामान्य नहीं चल रहे हैं। 2022 के उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव एक साथ लड़ने वाले दोनों नेताओं के रास्ते अब अलग हो चुके हैं। पिछले कई दिनों से ओमप्रकाश राजभर अखिलेश यादव के खिलाफ जबरदस्त तरीके से बोल रहे हैं। इन सब के बीच आज समाजवादी पार्टी की ओर से एक पत्र जारी कर ओमप्रकाश राजभर से साफ तौर पर कह दिया कि जहां आपको सम्मान मिले, वहां आप जाने के लिए स्वतंत्र हैं। समाजवादी पार्टी के इस पत्र पर ओपी राजभर का भी जवाब आ गया है। ओपी राजभर ने कहा कि आज समाजवादी पार्टी ने तलाक दे दिया है और हमने उसे स्वीकार कर लिया। वक्त आने पर इसका जवाब दिया जाएगा।

इसे भी पढ़ें: समाजवादी पार्टी ने शिवपाल और राजभर से कहा- जहां आपको सम्मान मिले, वहां जाने के लिए स्वतंत्र हैं

इसके साथ ही ओमप्रकाश राजभर ने यह भी कह दिया कि अगला कदम बहुजन समाज पार्टी है। इसके लिए मायावती जी से बातचीत की जाएगी। हालांकि, उन्होंने योगी आदित्यनाथ की भी तारीफ की। इसके साथ ही राजभर ने यह भी कहा कि जब मैं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलता हूं तो उनके लिए बुरा होता है। लेकिन जब अखिलेश यादव उनसे मिलते हैं तो अच्छा है। 2024 में सब कुछ स्पष्ट हो जाएगा। उन्होंने दावा किया कि हम दलितों और पिछड़ों के लिए लड़ते हैं और आगे भी ऐसा करते रहेंगे। ओमप्रकाश राजभर के लिए जारी पत्र में लिखा गया है कि श्री ओमप्रकाश राजभर जी, समाजवादी पार्टी लगातार भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ लड़ रही है। भारतीय जनता पार्टी के साथ आपका गठजोड़ है और लगातार भारतीय जनता पार्टी को मजबूत करने के लिए काम कर रहे हैं। अगर आपको लगता है कि कहीं ज्यादा सम्मान मिलेगा तो वहां आप जाने के लिए स्वतंत्र है।

इसे भी पढ़ें: भाजपा के साथ ओपी राजभर की बढ़ रही नज़दीकियां, ब्रजेश पाठक के साथ विक्ट्री साइन दिखाते हुए कही यह बात

इससे पहले अखिलेश यादव को ओमप्रकाश राजभर ने बाहर निकलने और जनता से मिलने की नसीहत दी थी। जिसके बाद से अखिलेश यादव की ओर से पलटवार करते हुए कहा गया था कि उन्हें किसी के सुझाव की जरूरत नहीं है। ओमप्रकाश राजभर ने तो यह भी कह दिया था कि वह अखिलेश यादव की ओर से तलाक का इंतजार कर रहे हैं, खुद गठबंधन से अलग नहीं होंगे। एक-दो दिन पहले ही राजभर नहीं यह भी कह दिया था कि भाजपा के नाम पर समाजवादी पार्टी मुसलमानों को डराकर वोट लेती है, लेकिन उनका हक नहीं देती है। राजभर के अलावा शिवपाल यादव के नाम भी एक पत्र जारी हुआ। समाजवादी पार्टी की ओर से लिखा गया है कि माननीय शिवपाल यादव जी- अगर आपको लगता है कि कहीं ज्यादा सम्मान मिलेगा तो वहां जाने के लिए आप स्वतंत्र हैं।

अन्य न्यूज़