ओवैसी ने चारमीनार को बताया अपने अब्बा की इमारत, मोदी-योगी और राहुल को लेकर कही ये बात

ओवैसी ने चारमीनार को बताया अपने अब्बा की इमारत, मोदी-योगी और राहुल को लेकर कही ये बात

असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि हैदराबाद की आवाम को लाखों सलाम हमने बीजेपी को फिर से हराया। नरेंद्र मोदी ने मेरे खिलाफ आकर कैंपेन किया। आपके मुख्यमंत्री को भी लाया गया था। बाबा भी आए थे। फिर ये राहुल गांधी भी आए थे। चार मीनार के दामन में जलसा किए थे।

सियासत में कितनी दफा ऐसे बयान सुनने को मिल जाते हैं जो एक अलग ही तरीके के माहौल पैदा कर देते हैं। अब्बाजान, चाचाजान जैसे उपनामों से पहले ही सुर्खियां बटोर रहा उत्तर प्रदेश का सियासी संग्राम एक बार फिर एक बयान के सहारे चर्चा में है और इसके केंद्र में हैं एआईएमआईएम नेता असदुद्दीन ओवैसी। कानपुर में सभा करने पहुंचे ओवैसी ने अपने भाषण के दौरान हैदराबाद के प्रसिद्ध चारमीनार को अपने अब्‍बा की इमारत करार दे दिया। उन्‍होंने यह भी कहा कि मुसलमानों की स्थिति बैंड बजाने वालों जैसी है, जिन्हें शादियों में बाहर ही रोक दिया जाता है।

इसे भी पढ़ें: यूपी में ओवैसी की राह कितनी आसान? आखिर क्यों उठा रहें मुस्लिम नेतृत्‍व तैयार करने का मुद्दा?

असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि हैदराबाद की आवाम को लाखों सलाम हमने बीजेपी को फिर से हराया। नरेंद्र मोदी ने मेरे खिलाफ आकर कैंपेन किया। आपके मुख्यमंत्री को भी लाया गया था। बाबा भी आए थे। फिर ये राहुल गांधी भी आए थे। चार मीनार के दामन में जलसा किए थे। कांग्रेसी कह रहे थे कि हमें मजलिस जलसा करने नहीं देगी। हमने कहा कि करो चारमीनार के दामन में, हमारे लोकल डीसीपी साहब बोले, सर आपको कोई ऐतराज नहीं है? हमने कहा कि हमें क्यों ऐतराज है, कोई भी कहीं पर कर सकता है। जलसा किए मीडिया के लोग आकर पूछे कि इनका जलसा हुआ। ओवैसी ने कहा कि हमने जवाब दिया कि हां, ये चारमीनार हमारे अब्बा की इमारत है। अब्बा के सामने आए हैं। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...