मच्छेल में पाक ने फिर किया संघर्ष विराम का उल्लंघन, एक जवान शहीद, एक जख्मी

By --सुरेश डुग्गर-- | Publish Date: Dec 6 2018 5:49PM
मच्छेल में पाक ने फिर किया संघर्ष विराम का उल्लंघन, एक जवान शहीद, एक जख्मी

कश्मीर घाटी में लगातार दूसरे दिन पाकिस्तान की ओर से सीजफायर का उल्लंघन किया गया है। पाकिस्तान सेना द्वारा गुरुवार को उत्तरी कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में सेना की अग्रिम पोस्टों पर भारी गोलाबारी की गई है।



 श्रीनगर। अब कुपवाड़ा के मच्छेल सेक्टर में में पाक सेना ने संघर्ष विराम का उल्लंघन करते हुए गोलीबारी की है। इस गोलीबारी में एक जवान शहीद हो गया है तथा एक अन्य जख्मी हो गया है। भारतीय पक्ष की ओर से भी जवाबी कार्रवाई की जा रही है। कल भी उड़ी में पाक सेना की गोलीबारी के कारण दो जवान जख्मी हुए थे। भारतीय पक्ष ने करारा जवाब देने के साथ ही विरोधस्वरूप उड़ी सेक्टर से होने वाले क्रास एलओसी ट्रेड को बंद कर दिया था।

 


कश्मीर घाटी में लगातार दूसरे दिन पाकिस्तान की ओर से सीजफायर का उल्लंघन किया गया है। पाकिस्तान सेना द्वारा गुरुवार को उत्तरी कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में सेना की अग्रिम पोस्टों पर भारी गोलाबारी की गई है। इस गोलाबारी में भारतीय सेना का एक जवान शहीद हुआ है। शुक्रवार शाम हुई सीजफायर उल्लंघन की घटना के बाद नियंत्रण रेखा से सटे इलाकों में सेना ने हाई अलर्ट घोषित किया है। पाकिस्तान द्वारा शुक्रवार शाम कुपवाड़ा के मच्छेल सेक्टर में भारी गोलाबारी की गई है। जिस इलाके में पाकिस्तान ने सीजफायर का उल्लंघन किया है, वहां से पूर्व में कई बार आतंकी घुसपैठ के प्रयास किए जा चुके हैं। ऐसे में गोलाबारी की आड़ में आतंकी घुसपैठ की संभावना को देखते हुए सेना ने एलओसी पर हाई अलर्ट घोषित किया है। वहीं पाकिस्तान की फायरिंग के बाद सेना के जवानों ने भी जवाबी कार्रवाई की है। 
 
 


गौरतलब है कि इससे पहले बुधवार देर रात भी पाकिस्तान की ओर से बारामुल्ला के उड़ी सेक्टर में सीजफायर का उल्लंघन किया गया था। सेना ने रात के वक्त बारामुल्ला में भारी गोलाबारी की थी, जिसमें सेना का एक जवान घायल हुआ था। घायल जवान को तत्काल श्रीनगर के 92 बेस अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां उसका इलाज किया जा रहा है। कल भारतीय पक्ष ने पाक गोलाबारी के विरोधस्वप जम्मू कश्मीर और पाक कब्जे वाले कश्मीर के बीच होने वाला क्रास एलओसी ट्रेड वीरवार को अनिश्चितकाल के लिए कर दिया था। कारण स्पष्ट था कि उड़ी सेक्टर में पाकिस्तानी सैनिकों द्वारा गत रोज जंगबंदी का उल्लंघन करने के बाद पैदा हुए हालात थे। इस बीच, गत सुबह उड़ी में शुरु हुई गोलाबारी आज सुबह बंद हुई। फिलहाल, पूरे इलाके में तनाव बना हुआ है और सेना ने अग्रिम इलाकों में रहने वाले सभी लोगों को सचेत कर, गोलाबारी की आड़ में घुसपैठ की आशंका के चलते सघन तलाशी अभियान भी चला रखा है।यहां यह बताना असंगत नहीं होगा कि भारत-पाकिस्तान के बीच एक समझौते के तहत अक्तूबर 2008 में जम्मू कश्मीर और उस पार वाले कश्मीर के बीच डयूटी फ्री क्रास एलओसी ट्रेड शुरु हुआ था। इस व्यापार में शामिल व्यापारियों के सामान से लदे ट्रक उड़ी सेक्टर के रास्ते ही उस कश्मीर जाते हैं और आते हैं। आज भी दोनों तरफ से व्यापारिक ट्रकों की आवाजाही थी।
 
 
अलबत्ता, आज सुबह पाक कब्जे वाले कश्मीर स्थित क्रास एलओसी ट्रेड से जुड़े अधिकारियों ने संबधित माध्यम के जरिए जम्मू कश्मीर के संबधित प्रशासन को सूचित किया कि व्यापारिक ट्रकों की आवाजाही नहीं होगी। फिलहाल,यह व्यापार अगली सूचना तक स्थगित रहेगा। उड़ी स्थित एक अधिकारी ने बताया कि एलओसी पर जो हालात बने हुए हैं,उसके चलते ही क्रास एलओसी व्यापार को रोका गया है। हालात के सामान्य होने के साथ ही यह दोबारा बहाल हो जाएगा। संबधित सैन्याधिकारियों ने बताया कि पाकिस्तानी सेना द्वारा जंगबंदी के किए गए उल्लंघन के बाद पूरे इलाके में तनाव बना हुआ है। अग्रिम इलाकों में रहने वाले लोगों को पूरी सावधानी बरतने को कहा गया है। इसके साथ ही सभी अग्रिम नाकों को भी घुसपैठ की आशंका के चलते सचेत करते हुए घुसपैठ की दृष्टि से संवेदनशील कहे जाने वाले इलाकों में सघन तलाशी अभियान चलाया गया है।


रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप


Related Story

Related Video