• प्याज की कीमतें छू रही आसमान, राहत के लिए नवंबर अंत तक इंतजार करने को कह रहे पासवान

अभिनय आकाश Nov 06, 2019 15:25

प्याज की रफ्तार पकड़ी कीमतें आने वाले दिनों में और भी बढ़ोत्तरी देखने को मिल सकती है। व्यापारियों के मुताबिक खुदरा बाजार में प्याज की कीमत अभी 120 रुपये प्रति किलो तक जा सकती है। रामविलास पासवान ने कहा कि प्याज की बढ़ती कीमतों के पीछे मुख्य कारण मांग और आपूर्ति का अंतर है।

प्याज की कीमत एक संवदेनशील मसला रहा है। इसकी कीमत अक्सर ऊंचाई पर चली जाती है। राजधानी दिल्ली में एक बार फिर प्याज के दामों ने रफ्तार पकड़ ली है। जिसके तहत इस बार प्याज के दाम बढ़ोतरी के बाद अपने पुराने रिकॉर्ड को तोड़ते हुए फुटकर बाजारों में प्रति किलो 100 रुपये तक बिक रहा है। राजधानी दिल्ली में प्याज के दामों में पिछले कुछ महीनों में यह दूसरी बार बढ़ोतरी है।

इसे भी पढ़ें: प्याज- टमाटर के आसमान पर चढ़े फिर दाम, सब्जी मंडी जानें से पहले जान ले भाव

प्याज की कीमत हमेशा से एक संवेदनशील मामला रहा है। इसकी कीमत को अक्सर आसमान छूते देखा भी गया है। राजधानी दिल्ली में एक बार फिर से प्याज लोगों के आंसू निकाल रहा है। दिल्ली में पिछले एक हफ्ते में प्याज का खुदरा मूल्य 45 प्रतिशत बढ़कर 80 रुपये किलो पहुंच गया है। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक, एक अक्टूबर को प्याज का भाव 55 रुपये किलो था। आकंड़ों के मुताबिक प्याज की कीमतों में पिछले साल की तुलना में करीब तीन गुना वृद्धि हुई है। पुराने रिकॉर्ड को तोड़ते हुए फुटकर बाजारों में प्याज के 100 रुपये प्रति किलो तक के बेचे जाने की खबर है। लेकिन प्याज की रफ्तार पकड़ी कीमतें आने वाले दिनों में और भी बढ़ोत्तरी देखने को मिल सकती है। व्यापारियों के मुताबिक खुदरा बाजार में प्याज की कीमत अभी 120 रुपये प्रति किलो तक जा सकती है। 

इसे भी पढ़ें: प्याज के कीमत में आई गिरावट, जानें क्या हैं नए रेट्स

प्याज की कीमतों में अचानक हुई वृद्धि के बाद केंद्रीय खाद्य मंत्री रामविलास पासवान ने प्याज की कीमतों में तेजी आने के बाद बुधवार को उच्च अधिकारियों के साथ बैठक की। इस बैठक में प्याज को आयात करने पर भी बातचीत की गई। जिसके बाद मीडिया से बात करते हुए रामविलास पासवान ने कहा कि प्याज की बढ़ती कीमतों के पीछे मुख्य कारण मांग और आपूर्ति का अंतर है। इसके अलावा मंत्री ने बारिश और बाढ़ के कारण फसल नष्ट होने को प्याज की कीमतों में उछाल कि वजह बताया। साथ ही पासवान ने  नवंबर के अंत तक ही कीमतों में राहत होने की बात कही है।