राम मंदिर ट्रस्ट के खिलाफ सीजीएम कोर्ट में डाली गई याचिका, 1 सितंबर को होगी सुनवाई

General Secretary Champat Rai
सत्य प्रकाश । Aug 25, 2021 8:43AM
श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के मासिक चंपत राय डॉ अनिल मिश्रा ने ऋषिकेश उपाध्याय सहित अन्य लोगों के खिलाफ राम मंदिर निर्माण के लिए मिली धनराशि में बंदरबांट करने का लगा है आरोप

अयोध्या। श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय सदस्य डॉ अनिल मिश्रा अयोध्या नगर सहित अन्य कई लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किए जाने को लेकर आप सांसद संजय सिंह अयोध्या सीजेएम कोर्ट में याचिका डाली है जिस पर 1 सितंबर को सुनवाई की जाएगी। राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट पर आरोप है कि राम मंदिर निर्माण के लिए देश भर से बिताए गए चंदे का बंदरबांट किया जा रहा है। 

इसे भी पढ़ें: अयोध्या से 25 किलोमीटर दूरी पर हुई ऐसी वारदात, बैगन की पूजा करने लगे ग्रामीण 

दो करोड़ की भूमि को 18 करोड़ में खरीदा है जिसमें ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय सदस्य डॉ अनिल मिश्रा अयोध्या के मेयर ऋषिकेश उपाध्याय सहित अन्य कई लोग शामिल हैं जिनके खिलाफ मामले को दर्ज कर जांच कर कार्रवाई की जाए इसके लिए आप सांसद संजय सिंह ने पहले ही नगर कोतवाली में मामले को दर्ज कराए जाने को लेकर तहरीर दी थी लेकिन किसी प्रकार की कार्रवाई ना होने के बाद अब सीजेएम कोर्ट में इस मामले को दर्ज कराए जाने के लिए याचिका डाली गई है। जिसको लेकर सीजीएम कुलदीप कुमार 1 सितंबर को सुनवाई करेंगे। 

इसे भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश सरकार का ऐलान, कल्याण सिंह के नाम पर छह जिलों की सड़कों का होगा नामकरण 

आप सांसद संजय सिंह के अधिवक्ता अरुण यादव ने बताया कि गाटा संख्या 242, 242, 244, 22 करोड़ में खरीदी गई थी उसे ट्रस्ट की ओर से 18 करोड़ में खरीदा गया जमीन को खरीदते में आरोपियों ने मिलकर ट्रस्ट को दिए गए चंदे की जमकर बंदरबांट की है जिसको लेकर इस मामले में संजय सिंह ने नया ऋषिकेश उपाध्याय चंपत राय निवासी ग्राम कचहरी रामकोट हरीश कुमार पाठक सुल्तान अंसारी रंग मोहन तिवारी सब रजिस्टार एसबी सिंह दीप नारायण सहित अन्य ग्रुप में शामिल लोगों के खिलाफ आरोप लगाया है बताया कि अर्जी पर कोर्ट ने प्रकरण को दर्ज कर लिया है और कोतवाली नगर से आख्या तलब की है जिसमें अगली सुनवाई 1 सितंबर को होगी

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़