मेट्रो में महिलाओं के लिये मुफ्त सफर वाले प्रस्ताव को चुनौती देने वाली याचिका कोर्ट से खारिज

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Jul 10 2019 1:49PM
मेट्रो में महिलाओं के लिये मुफ्त सफर वाले प्रस्ताव को चुनौती देने वाली याचिका कोर्ट से खारिज
Image Source: Google

अदालत ने याचिकाकर्ता की उस अपील को भी खारिज कर दिया, जिसमें किराया कम करने और टिकट की कीमत मौजूदा छह स्लैब के बजाये इसे 15 स्लैब में करने का अनुरोध किया गया था।

नयी दिल्ली। दिल्ली उच्च न्यायालय ने मेट्रो में महिलाओं के लिये मुफ्त सफर के आप सरकार के प्रस्ताव को चुनौती देने वाली याचिका बुधवार को खारिज कर दी। मुख्य न्यायाधीश डी एन पटेल और न्यायमूर्ति सी हरि शंकर ने याचिका को सुनने से यह कहकर इनकार कर दिया कि इसमें कोई दम नहीं है। पीठ ने याचिकाकर्ता पर भी 10,000 रुपये का जुर्माना भी लगाया।

इसे भी पढ़ें: हमने मेक-इन-इंडिया के तहत पर्याप्त स्टार्टअप को बढ़ावा दिया है: राज्यवर्धन राठौर

अदालत ने याचिकाकर्ता की उस अपील को भी खारिज कर दिया, जिसमें किराया कम करने और टिकट की कीमत मौजूदा छह स्लैब के बजाये इसे 15 स्लैब में करने का अनुरोध किया गया था। पीठ ने कहा, ‘‘किराया तय करना वैधानिक प्रावधान है और यह लागत समेत कई कारकों पर निर्भर करता है जिसे एक जनहित याचिका में निर्धारित नहीं किया जा सकता।’’

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video