भारत के सभी चौकीदारों को बदनाम कर रहे हैं मोदी: राहुल गांधी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 24, 2018   11:20
भारत के सभी चौकीदारों को बदनाम कर रहे हैं मोदी: राहुल गांधी

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी देश के सभी चौकीदारों को बदनाम कर रहे हैं। मैं देश के चौकीदारों से माफी मांगता हूं। ये आपकी गलती नहीं है। आप सब चोर नहीं हो।

सीहोर/मंडीदीप (मध्य प्रदेश)। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी देश के सभी चौकीदारों को बदनाम कर रहे हैं। आगामी 28 नवंबर को मध्य प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए सीहोर जिले के बुधनी विधानसभा सीट के अंतर्गत आने वाले नसरूल्लागंज कस्बे में अपनी पार्टी के उम्मीदवार के लिए चुनाव प्रचार करने आये राहुल ने मोदी पर तंज कसते हुए जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि अब ऐसी स्थिति बन गई है कि जब भी कोई ‘चौकीदार’ शब्द कहता है, तो लोग कहते हैं ‘चोर है’। उन्होंने कहा, ‘‘आज जहां-जहां जाते हो, जैसे ही आप ‘चौकीदार’ शब्द बोलते हो, तो जवाब आता है ‘चोर है’। मैं देश के चौकीदारों से माफी मांगता हूं। ये आपकी गलती नहीं है। आप सब चोर नहीं हो। आप सब ईमानदार हो। आपको बदनाम केवल एक ही व्यक्ति ने किया है। देश के प्रधानमंत्री सभी चौकीदारों को बदनाम कर रहे हैं।’’ राहुल ने कहा, ‘‘मोदी ने कहा था कि उसे (मोदी) चौकीदार बना दो। आपने (देश की जनता) ये नहीं पूछा कि वह किसका चौकीदार बनना चाहते हैं। आपने सोचा कि वह (मोदी) हमारा (जनता) चौकीदार बनेगा। लेकिन वह (देश के बड़े-बड़े उद्योगपतियों) अनिल अंबानी, नीरव मोदी, मेहुल चोकसी एवं विजय माल्या को चौकीदार बन गया।’’ बुधनी से मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान चुनावी मैदान में है और उनके खिलाफ कांग्रेस ने पूर्व केन्द्रीय मंत्री एवं मध्य प्रदेश कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष अरुण यादव को मैदान में उतारा है। मध्य प्रदेश में भाजपा पिछले 15 साल से सत्ता में है और चौहान पिछले 13 साल से प्रदेश के मुख्यमंत्री हैं। राहुल ने कहा, ‘‘जब मैंने अरुण यादव से पूछा कि क्या वह इस सीट (बुधनी) पर हारेंगे या हरायेंगे, तो इस पर उन्होंने (अरुण) झट से उत्तर देते हुए कहा कि मैं (मुख्यमंत्री को) हरा कर वापस आऊंगा।’’ शिवराज सिंह चौहान के 13 वर्षो के शासन काल में इलाके का विकास न होने का आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा कि कांग्रेस चौहान को सम्मान एवं प्यार से हराना चाहती है।

राहुल ने कहा, ‘‘हमारे भाषण सुन लीजिये। हम तमीज से बात कर रहे हैं। मुख्यमंत्री के पद का आदर करते हैं। उन्होंने (चौहान) गलत काम किया। प्रधानमंत्री का भाषण सुनिये, फर्क देखिये।’’ इससे पहले, रायसेन जिले के मंडीदीप अपने पार्टी के प्रत्याशी के लिए जनसभा को संबोधित करते हुए राहुल ने कहा कि साढ़े चार साल पहले प्रधानमंत्री मोदी ने देश की जनता से कहा था कि अब ‘अच्छे दिन’ आएंगे। लेकिन अच्छे दिन तो कुछ बड़े उद्योगपतियों नीरव मोदी, अनिल अंबानी, विजय माल्या के आए। आम जनता के अच्छे दिन अब तक नहीं आए। मोदी के बहुचर्चित नारे ‘अच्छे दिन आएंगे’ पर तंज कसते हुए उन्होंने कहा कि पहले जब मोदीजी कहते थे कि ‘अच्छे दिन’, तो जनता कहती थी ‘आएंगे’। लेकिन अब एक नया नारा हो गया है। जैसे ही कोई ‘चौकीदार’ कहता है, तो जनता कहती है ‘चोर है’। वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव प्रचार की ओर इशारा करते हुए राहुल ने कहा, ‘‘मोदी जी पहले हर भाषण में किसानों, भ्रष्टाचार, रोजगार एवं किसानों की कर्ज माफी की बात करते थे। अब उनका भाषण सुनिये। अब इन मुद्दों पर बात नहीं करते हैं। पूरा देश समझता है कि नरेन्द्र मोदी जी झूठ बोलते हैं। उनके वादों पर कोई विश्वास नहीं करता है।’’ दो साल पहले की गई नोटबंदी को देश का सबसे बड़ा घोटाला करार देते हुए उन्होंने कहा कि नोटबंदी के दौरान काला धन रखने वाले बैंकों की लाइन में नहीं लगे। कोई भी सूट-बूट वाला बैंकों की लाइन में नहीं दिखा। राहुल ने आरोप लगाया, ‘‘नोटबंदी का मकसद था कि जनता की जेब से पैसे निकालो और उससे बड़े-बड़े उद्योगपतियों का कर्जा माफ कर दो।’’ मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के बेटे का नाम हाल ही में पनामा पेपर्स लीक मामले में घसीटने के लिए मानहानि के मुकदमे का सामना कर रहे राहुल ने कहा, ‘‘मैंने गलती से कह दिया था कि शिवराज के बेटे का नाम पनामा पेपर्स लीक मामले में आया है। असलियत में छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री (रमन सिंह) के बेटे का नाम पनामा पेपर्स लीक मामले में आया था। इस पर शिवराजजी ने मुझ पर मानहानि का केस दायर करने की धमकी दी।’’ उन्होंने कहा, ‘‘लेकिन जब मैंने ई-टेंडरिंग, व्यापमं, अवैध खनन एवं मिड-डे मील घोटालों के बारे में बोला, तो उन्होंने एक भी शब्द नहीं कहा और न ही मानहानि का केस दर्ज करने की मुझे धमकी देते हैं। इसका क्या मतलब है? शिवराज ने व्यामपं घोटाले में लोगों का पैसा चुराया है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।