कश्मीरियत, जम्हूरियत के साथ अब सेहत की बात, 'जन्नत' को PM मोदी का आयुष्मान भव:

  •  अभिनय आकाश
  •  दिसंबर 26, 2020   13:05
  • Like
कश्मीरियत, जम्हूरियत के साथ अब सेहत की बात, 'जन्नत' को PM मोदी का आयुष्मान भव:

पीएम मोदी ने कहा कि जम्मू कश्मीर के सभी लोगों को आयुष्मान भारत का फायदा मिलने जा रहा है। सेहत स्कीम- अपने आप में एक बहुत बड़ा कदम है। जम्मू-कश्मीर को अपने लोगों के विकास के लिए ये कदम उठाता देख, मुझे भी बहुत खुशी हो रही है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए जम्मू-कश्मीर में आयुष्मान भारत PM-JAY सेहत योजना का शुभारंभ किया। लोगों को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि आज का दिन जम्मू कश्मीर के लिए ऐतिहासिक है। जम्मू कश्मीर के सभी लोगों को आयुष्मान भारत का फायदा मिलने जा रहा है। सेहत स्कीम- अपने आप में एक बहुत बड़ा कदम है। जम्मू-कश्मीर को अपने लोगों के विकास के लिए ये कदम उठाता देख, मुझे भी बहुत खुशी हो रही है। जम्मू कश्मीर के हर वोटर के चेहरे पर मुझे विकास के लिए, डेवलपमेंट के लिए एक उम्मीद नजर आई, उमंग नजर आई। जम्मू कश्मीर के हर वोटर की आंखों में मैंने अतीत को पीछे छोड़ते हुए, बेहतर भविष्य का विश्वास देखा। 

इसे भी पढ़ें: आंदोलनरत किसानों को गुमराह किया गया, मोदी की योजनाओं से प्रसन्न हैं देशभर के किसान

इसके साथ ही पीएम मोदी ने जम्मू-कश्मीर के लोगों को लोकतंत्र को मजबूत करने के लिए बधाई दी। उन्होंने कहा कि डीडीसी के चुनाव ने एक नया अध्याय लिखा है, मैं चुनावों के हर फेज में देख रहा था कि कैसे इतनी सर्दी के बावजूद, कोरोना के बावजूद, नौजवान, बुजुर्ग, महिलाएं बूथ पर पहुंच रहे थे। अटल जी का जम्मू कश्मीर से एक विशेष स्नेह था। अटल जी इनसानियत, जम्हूरियत और कश्मीरियत की बात को लेकर हम सबको आगे के काम के लिए दिशा-निर्देश देते रहे हैं। आज जम्मू कश्मीर इसी भावना को लेकर आगे बढ़ रहा है। पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना महामारी के दौरान जम्मू-कश्मीर में करीब 18 लाख सिलेंडर रिफिल कराए गए। स्वच्छ भारत अभियान के तहत जम्मू कश्मीर में 10 लाख से ज़्यादा टॉयलेट बनाए गए। लेकिन इसका मकसद सिर्फ शौचालय बनाने तक सीमित नहीं, ये लोगों के स्वास्थ्य को सुधारने की भी कोशिश है। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


प्रियंका गांधी ने रविदास जयंती पर सीरगोवर्धन स्थित मंदिर में पूजा अर्चना की, महंत सन्त निरंजन दास से लिया आशीर्वाद

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 27, 2021   15:44
  • Like
प्रियंका गांधी ने रविदास जयंती पर सीरगोवर्धन स्थित मंदिर में पूजा अर्चना की, महंत सन्त निरंजन दास से लिया आशीर्वाद

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने ट्वीट किया कि जो हम सहरी, सु मीत हमारा। (यह संत रविदास की रचना है जिसके जरिये वह कहते हैं कि जो भी जीव इस बंधनों से मुक्‍त है, वह शुद्ध है, वही मेरा मित्र है और मेरा हमशहरी है।)

वाराणसी। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने शनिवार को संत रविदास जयंती के अवसर पर वाराणसी के सीरगोवर्धन स्थित रविदास मंदिर पहुंच कर पूजा अर्चना की और उनके गुरुमंत्र से सबके कल्‍याण की कामना की। प्रियंका गांधी सुबह वाराणसी हवाई अड्डे पर पहुंचीं जहां पार्टी प्रदेश अध्यक्ष अजय सिंह लल्लू सहित तमाम वरिष्ठ नेताओं ने उनका स्वागत किया। यहां से वह सीधे सीरगोवर्धन स्थित रविदास मंदिर पहुंचीं और पूजा अर्चना करके मंदिर के महंत सन्त निरंजन दास से आशीर्वाद लिया। 

इसे भी पढ़ें: प्रियंका गांधी ने भरतपुर मामले में कार्रवाई के लिए अशोक गहलोत को कहा धन्यवाद 

प्रियंका गांधी वाड्रा ने शनिवार की दोपहर ट्वीट किया कि जो हम सहरी, सु मीत हमारा। (यह संत रविदास की रचना है जिसके जरिये वह कहते हैं कि जो भी जीव इस बंधनों से मुक्‍त है, वह शुद्ध है, वही मेरा मित्र है और मेरा हमशहरी है।) कांग्रेस नेता ने लिखा, समता समभाव, सेवा एवं सद्भावना का गुरुमंत्र देकर एक आादर्श समाज बनाने की प्रेरणा देने वाले संत शिरोमणि श्री गुरु रविदास जी की जयंती पर वाराणसी में उनके चरणों में नमन करने का आज पुन: सौभाग्‍य मिला। श्री गुरु रविदास जी के गुरुमंत्र से सबका कल्‍याण हो। उल्‍लेखनीय है कि पिछले वर्ष भी प्रियंका गांधी वाद्रा ने वाराणसी के सीरगोवर्धन स्थित रविदास मंदिर पहुंच कर पूजा अर्चना की थी। आज सुबह केन्द्र पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान भी रविदास मंदिर गए और वहां उन्होंने पूजा अर्चना की।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


सरकार महिलाओं को आर्थिक रूप से मजबूत बनाने को प्रयासरत: नरेंद्र सिंह तोमर

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 27, 2021   15:30
  • Like
सरकार महिलाओं को आर्थिक रूप से मजबूत बनाने को प्रयासरत: नरेंद्र सिंह तोमर

तोमर ने सेक्टर-33ए स्थित नोएडा शिल्प हाट में आयोजित आजीविका सरस मेले के उद्घाटन अवसर पर शुक्रवार को यह बात कही। उन्होंने कहा कि महिलाओं को आर्थिक रूप से मजबूत बनाने तथा उनकी प्रतिभाओं को देशवासियों के समक्ष लाने के लिए केंद्र सरकार हर संभव प्रयास कर रही है।

नोएडा (उप्र)। केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि आजीविका मिशन देश की ग्रामीण महिलाओं के जीवन में सामाजिक और आर्थिक परिवर्तन लाने में अहम भूमिका निभा रहा है। तोमर ने सेक्टर-33ए स्थित नोएडा शिल्प हाट में आयोजित आजीविका सरस मेले के उद्घाटन अवसर पर शुक्रवार को यह बात कही। उन्होंने कहा कि महिलाओं को आर्थिक रूप से मजबूत बनाने तथा उनकी प्रतिभाओं को देशवासियों के समक्ष लाने के लिए केंद्र सरकार हर संभव प्रयास कर रही है।

उन्होंने कहा कि इसके लिए वर्ष 2022 तक 10 करोड़ महिलाओं को ग्रामीण आजीविका मिशन से जोड़ने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। कृषि मंत्री ने कहा कि ग्रामीण महिलाओं को बेहतर मंच देने के लिए ही आजीविका सरस मेले का आयोजन किया जा रहा है। उद्घाटन के पश्चात केंद्रीय मंत्री ने सरस आजीविका मेले का निरीक्षण किया। उन्होंने महिला शिल्पकारों से उनके उत्पादों के बारे में जानकारी ली और उनका हौसला बढ़ाया। सरस मेले में 27 राज्यों की 300 से अधिक महिलाओं ने भाग लिया।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर कैबिनेट सचिव आठ राज्यों, UT के साथ करेंगे समीक्षा बैठक

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 27, 2021   15:14
  • Like
कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर कैबिनेट सचिव आठ राज्यों, UT के साथ करेंगे समीक्षा बैठक

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि देश में पिछले 24 घंटे में 16,488 नए मामले आए जिनमें से 85.75 प्रतिशत मामले छह राज्यों और केंद्रशासित प्रदेश से आए। मंत्रालय ने कहा, ‘‘आठ राज्यों में रोजाना के मामलों में बढ़ोतरी दिख रही है।’’

नयी दिल्ली। कोविड-19 के मामलों में वृद्धि के बीच कैबिनेट सचिव आठ राज्यों और केंद्रशासित प्रदेश के साथ शनिवार को उच्च स्तरीय समीक्षा बैठक करेंगे। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने इस बारे में बताया। तेलंगाना, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, गुजरात, पंजाब, जम्मू कश्मीर और पश्चिम बंगाल में कोविड-19 के मामलों में बढ़ोतरी हुई है। पिछले 24 घंटे में महाराष्ट्र में एक दिन में संक्रमण के सबसे ज्यादा 8,333 मामले आए। केरल में 3671 मामले और पंजाब में 622 मामले आए। 

इसे भी पढ़ें: गुजरात के चार प्रमुख शहरों में 15 दिन के लिए बढ़ाया गया रात्रिकालीन कर्फ्यू 

मंत्रालय ने कहा कि देश में पिछले 24 घंटे में 16,488 नए मामले आए जिनमें से 85.75 प्रतिशत मामले छह राज्यों और केंद्रशासित प्रदेश से आए। मंत्रालय ने कहा, ‘‘आठ राज्यों में रोजाना के मामलों में बढ़ोतरी दिख रही है।’’ मंत्रालय ने कहा, ‘‘पिछले दो हफ्ते में केरल में उपचाराधीन मामलों में सबसे ज्यादा गिरावट आयी। राज्य में 14 फरवरी को उपचाराधीन मरीजों की संख्या 63,847 थी जो आज घटकर 51,679 रह गयी है। महाराष्ट्र में उपचाराधीन मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी जारी है। महाराष्ट्र में 14 फरवरी को 34,449 उपचाराधीन मरीज थे और अब राज्य में 68,810 मरीज हैं।’’

मंत्रालय ने कहा कि कैबिनेट सचिव तेलंगाना, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश, गुजरात, पंजाब, जम्मू कश्मीर और पश्चिम बंगाल के साथ उच्च स्तरीय समीक्षा बैठक करेंगे। सुबह सात बजे तक अनंतिम रिपोर्ट के अनुसार टीकाकरण अभियान के तहत देश में कुल 2,92,312 सत्र में 1,42,42,547 खुराक दी गयी। इनमें से 66,68,974 स्वास्थ्यकर्मियों को पहली खुराक, 24,53,878 स्वास्थ्यकर्मियों को दूसरी खुराक दी गयी। 

इसे भी पढ़ें: महाराष्ट्र बोर्ड की 10वीं और 12वीं की परीक्षा इस दिन से होगी शुरू, कोरोना के चलते तिथियों में किया गया बदलाव 

इसके अलावा अग्रिम मोर्चे के 51,19,695 कर्मियों को पहली खुराक दी गयी। टीकाकरण अभियान के लिए 13 फरवरी से दूसरी खुराक देने की शुरुआत हुई थी। अग्रिम मोर्चे के कर्मियों के लिए दो फरवरी से टीकाकरण अभियान शुरू हुआ था। टीकाकरण अभियान के 42 वें दिन (27 फरवरी) कुल 7,64,904 खुराक दी गयी। कुल 13,397 सत्र में 3,49,020 लोगों को पहली खुराक और 4,20,884 लोगों को दूसरी खुराक दी गयी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept