मुख्यमंत्रियों के साथ पीएम मोदी की बैठक, कोरोना के हालात पर हो रही चर्चा

मुख्यमंत्रियों के साथ पीएम मोदी की बैठक, कोरोना के हालात पर हो रही चर्चा

आज 263 दिन बाद देश में सबसे अधिक 247417 नए मामले आए हैं जबकि 380 मरीजों में अपनी जान गंवा दी। महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल, दिल्ली में लगातार कोरोनावायरस के मामलों में भयंकर वृद्धि देखी जा रही है। कर्नाटक, तमिलनाडु और केरल में भी मामले लगातार बढ़ते दिखाई दे रहे हैं।

देश में बढ़ते कोरोना वायरस के मामलों के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक कर रहे हैं। यह बैठक वर्चुअली हो रही है। इस बैठक में गृह मंत्री अमित शाह के अलावा गृह सचिव अजय कुमार भल्ला भी मौजूद हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बैठक में विभिन्न राज्यों के मुख्यमंत्री भी मौजूद हैं। बताया गया कि कैबिनेट सचिव राजीव गौबा के अलावा राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी, त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब देव, असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्व सरमा सहित अन्य राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने हिस्सा लिया। सूत्रों के मुताबिक प्रधानमंत्री की इस बैठक के में कोरोनावायरस के मामलों को लेकर बातचीत की जा रही है और साथ ही साथ टेस्टिंग और वैक्सीनेशन पर जोर देने की बात हो रही है। आपको बता दें कि पिछले 24 घंटे में देश में 50000 मामलों में उछाल देखने को मिला है।

इससे पहले प्रधानमंत्री ने रविवार को देश में कोविड-19 महामारी के हालात, स्वास्थ्य संबंधी बुनियादी ढांचे और आपूर्ति व्यवस्था की चल रही तैयारियों, देश में टीकाकरण अभियान की स्थिति, ओमीक्रोन के प्रसार और इसके जन स्वास्थ्य प्रभाव की समीक्षा करने के लिए एक उच्च स्तरीय बैठक की अध्यक्षता की थी। आपको बता दें कि आज 263 दिन बाद देश में सबसे अधिक 247417 नए मामले आए हैं जबकि 380 मरीजों में अपनी जान गंवा दी। महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल, दिल्ली में लगातार कोरोनावायरस के मामलों में भयंकर वृद्धि देखी जा रही है।

कर्नाटक, तमिलनाडु और केरल में भी मामले लगातार बढ़ते दिखाई दे रहे हैं। देश में वैक्सीनेशन का काम भी तेजी से किया जा रहा है। देशव्यापी कोविड-19 रोधी टीकाकरण अभियान के तहत अभी तक 154.61 करोड़ खुराकें दी जा चुकी है। देश में सात अगस्त 2020 को संक्रमितों की संख्या 20 लाख, 23 अगस्त 2020 को 30 लाख और पांच सितंबर 2020 को 40 लाख से अधिक हो गई थी। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।