#MeToo अभियान के तहत हर जगह यौन उत्पीड़न के खिलाफ बोल रही हैं महिलाएं: रमानी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 24, 2020   08:22
#MeToo अभियान के तहत हर जगह यौन उत्पीड़न के खिलाफ बोल रही हैं महिलाएं: रमानी

पत्रकार प्रिया रमानी ने संयुक्त राष्ट्र के आंकड़े को उद्धृत करते हुए कहा कि तीन साल पहले शुरू हुए मीटू अभियान को लेकर पूरी दुनिया में 2019 तक 3.5 करोड़ ट्वीट हुए हैं। उन्होंने कहा कि यह पूरी स्थिति का सिर्फ ‘छोटा सा हिस्सा’ है। उन्होंने कहा, ‘‘ भारत में मीटू अभियान के तहत 200 महिलाओं ने अपनी बात रखी।’’

कोलकाता। पत्रकार प्रिया रमानी ने बृहस्पतिवार को कहा कि मी टू अभियान की वजह से महिलाएं जहां कहीं यौन उत्पीड़न का सामना कर रही है वे इसके खिलाफ बोल रही हैं। रमानी द्वारा तत्कालीन केन्द्रीय मंत्री एम जे अकबर पर लगाये गये आरोपों के बाद एक विवाद छिड़ गया था। पत्रकार ने मी टू अभियान के दौरान केंद्रीय मंत्री के खिलाफ यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था जिसके बाद मंत्री ने उन पर मानहानि का मुकदमा दायर कर दिया था और वह मामला अभी अदालत में है। मंत्री को अपने पद से इस्तीफा देना पड़ा था।

इसे भी पढ़ें: राधिका आप्टे ने #MeToo पर जाहिर की नाराजगी, कहा- सच्चाई बाहर नहीं आईं न ही बदलीं

रमानी ने संयुक्त राष्ट्र के आंकड़े को उद्धृत करते हुए कहा कि तीन साल पहले शुरू हुए मीटू अभियान को लेकर पूरी दुनिया में 2019 तक 3.5 करोड़ ट्वीट हुए हैं। टाटा स्टील कोलकाता साहित्य सम्मेलन के एक सत्र को संबोधित करते हुए रमानी ने कहा कि यह पूरी स्थिति का सिर्फ ‘छोटा सा हिस्सा’ है। पत्रकार ने कहा, ‘‘ भारत में मीटू अभियान के तहत 200 महिलाओं ने अपनी बात रखी।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ हम वहां पहुंच चुके हैं जहां से महिलाएं अपनी बात कहने से नहीं डरती हैं।’’

इसे भी पढ़ें: शाहरुख ने मीटू पर कहा, कोई गलत व्यवहार करता है तो उसे नजरअंदाज नहीं करें, आवाज उठाए

‘2020 परिदृश्य: महिला होना’ विषय पर रमाणी ने कहा कि पहले विमानों में महिलाएं सिर्फ अटेंडेंट की भूमिका में दिखती थीं लेकिन अब निजी एयरलाइनों में एक तिहाई महिलाएं पायलट हैं। उन्होंने कहा, ‘‘ महिलाएं फायटर विमान भी उड़ा रही हैं।’’ उन्होंने लोकसभा चुनाव में 17 महिलाओं को टिकट देने के लिए पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ममता बनर्जी की की सराहना की।

इसे भी देखें: Kangna Ranaut ने Sonam Kapoor को सुनाई खरी खरी





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।