• मुरादाबाद में ‘मकान बिकाऊ हैं’ वाले पोस्टर पर पुलिस ने कही ये बात

पश्चिमी उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद के एरिया में एक पोस्टर लगा हैं, जिसमें घोषणा की गई है कि उनका घर बिक्री के लिए तैयार हैं। शहर के लाजपत नगर इलाके में शिव मंदिर कॉलोनी के लगभग हर दरवाजे पर एक पोस्टर लगा है, जिसमें लिखा है सामुहिक पलायन।

पश्चिमी उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद के एरिया में एक पोस्टर लगा हैं, जिसमें घोषणा की गई है कि उनका घर बिक्री के लिए तैयार हैं। शहर के लाजपत नगर इलाके में शिव मंदिर कॉलोनी के लगभग हर दरवाजे पर एक पोस्टर लगा है, जिसमें लिखा है सामुहिक पलायन। यहां दो संपत्तियों को मुसलमानों को बेचे जाने के बाद लोग पलायन की धमकी दे रहे हैं।  यहां के एक व्यवसायी गौरव कोहली जो पिछले 40 वर्षों से वहां रह रहे हैं, कहा कि एक आम समझ है कि वे अपने क्षेत्रों में रहेंगे और हम अपने क्षेत्रों में रहेंगे, लेकिन वे क्यों जबरदस्ती यहां आकर माहौल खराब करना चाहते हैं। हमारी संस्कृतियां अलग हैं। हमारे अपने त्यौहार हैं, जिन्हें हम अपने तरीके से मनाना चाहते हैं। वे अपने त्योहारों के दौरान कुर्बानी करेंगे।

मंगलवार को मुरादाबाद के एसएसपी और जिलाधिकारी शैलेंद्र कुमार सिंह ने इलाके का दौरा किया। सिंह ने कहा कि कॉलोनी में 81 घर हैं। दो घरों के मालिकों ने करीब दो महीने पहले अपनी संपत्ति मुस्लिम समुदाय के लोगों को बेच दी थी। जिला प्रशासन और पुलिस की संयुक्त टीम ने जांच की, उन घरों में कोई नहीं रह रहा है और वे बाहर से बंद हैं।

उन्होंने कहा कि हमने लोगों को यह समझाने की कोशिश की है कि किसी को अपनी संपत्ति किसी व्यक्ति को बेचने से कोई नहीं रोक सकता। पुलिस ने एक बयान भी जारी किया है, जिसमें लोगों को कहीं भी रहने की आजादी की बात कही गई है। यहां के निवासी चाहते हैं कि उनकी सहमति के बिना बाहरी लोगों को कोई संपत्ति नहीं बेची जाए।

सिंह ने कहा कि कुछ लोग जानबूझकर इस मुद्दे पर सोशल मीडिया के माध्यम से सांप्रदायिक सद्भाव को बिगाड़ने की कोशिश कर रहे हैं। ऐसे लोगों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। 33 साल से वहां रहने का दावा करने वाले विवेक शर्मा ने कहा कि हमने सुना है कि उन्होंने इन संपत्तियों को वास्तविक दर से 2-4 गुना अधिक में खरीदा। उन्होंने ऐसा क्यों किया, जब वे मुरादाबाद में कहीं भी संपत्ति खरीद सकते हैं? शर्मा ने कहा कि हमारे बीच ऐसे लोग हैं जो इन संपत्तियों को खरीदने के इच्छुक हैं। हमारी मांग है कि इन बिक्री को उलट दिया जाए।