पूर्व राष्ट्रपति और भारत रत्न प्रणब मुखर्जी का निधन, आर आर हॉस्पिटल में ली अंतिम सांस

पूर्व राष्ट्रपति और भारत रत्न प्रणब मुखर्जी का निधन, आर आर हॉस्पिटल में ली अंतिम सांस

भारत के 13वें राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का निधन हो गया। उन्होंने सेना के अनुसंधान एवं रेफरल अस्पताल में अंतिम सांस ली। वह 84 वर्ष के थे।

नयी दिल्ली। भारत के 13वें राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का निधन हो गया। उन्होंने सेना के अनुसंधान एवं रेफरल अस्पताल में अंतिम सांस ली। वह 84 वर्ष थे। उनके बेटे अभिजीत बनर्जी ने ट्वीट कर निधन की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि दुखी मन से आप सबको सूचित करता हूं कि मेरे पिता श्री प्रणब मुखर्जी का निधन हो गया है।

सोमवार सुबह प्रणब मुखर्जी का स्वास्थ्य और खराब हो गया क्योंकि फेफड़े में संक्रमण की वजह से उन्हें सेप्टिक शॉक लगा था। सेप्टिक शॉक एक ऐसी गंभीर स्थिति है, जिसमें रक्तचाप काम करना बंद कर देता है और शरीर के अंग पर्याप्त ऑक्सीजन प्राप्त करने में विफल हो जाते हैं। मिली जानकारी के मुताबिक, सोमवार सुबह उनका निधन हो गया। 

इसे भी पढ़ें: नहीं रहीं 'गॉड मदर ऑफ कार्डियोलॉजिस्ट' डॉ. पद्मावती, 103 साल की उम्र में कोविड-19 से निधन 

बता दें कि प्रणब मुखर्जी का स्वास्थ्य बिगड़ने के बाद उन्हें 10 अगस्त को सेना के अनुसंधान एवं रेफरल अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जहां पर उनका कोरोना टेस्ट हुआ और उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। डॉक्टरों ने बताया था कि पूर्व राष्ट्रपति के मस्तिष्क में खून का थक्का जम गया था जिसके बाद उनकी सर्जरी की गई थी। जिसके बाद वह गहरे कोमा में चले गए थे।

भारत के 13वें राष्ट्रपति के तौर पर प्रणब मुखर्जी ने साल 2012 में शपथ ली थी और वह 2017 तक राष्टपति रहे। पूर्व राष्ट्रपति को साल 2019 में भारत रत्न से सम्मानित किया गया था। 11 दिसंबर 1935 में जन्मे प्रणब मुखर्जी 2018 में आरएसएस के मुख्यालय नागपुर गए थे और वहां पर उन्होंने संघ के एक कार्यक्रम में बतौर मुख्य वक्ता के तौर पर हिस्सा लिया था। हालांकि, उनके इस कदम से कांग्रेस असहज हो गई थी। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।