J&K में राष्ट्रपति शासन बढ़ाने का प्रस्ताव पेश, शाह 7 बजे देंगे आरक्षण संशोधन विधेयक पर जवाब

By अभिनय आकाश | Publish Date: Jul 1 2019 3:51PM
J&K में राष्ट्रपति शासन बढ़ाने का प्रस्ताव पेश, शाह 7 बजे देंगे आरक्षण संशोधन विधेयक पर जवाब
Image Source: Google

बीजद सांसद प्रसन्न आचार्य ने कहा कि कल राष्ट्रपति शासन खत्म हो जाएगा इस वजह से बीजद प्रस्ताव का समर्थन करती ह। इसके अलावा जदयू सांसद रामचंद्र प्रसाद ने जम्मू कश्मीर में राष्ट्रपति शासन को बढ़ाने के प्रस्ताव और आरक्षण बिल का समर्थन किया।

नई दिल्ली। लोकसभा के बाद आज राज्यसभा में गृह मंत्री अमित शाह ने जम्मू कश्मीर आरक्षण संशोधन विधेयक और राष्ट्रपति शासन बढ़ाने का प्रस्ताव राज्यसभा में पेश किया। अमित शाह शाम सात बजे जम्मू कश्मीर आरक्षण संशोधन विधेयक पर बोलेंगे। मोदी सरकार द्वारा पेश किए गए दोनों प्रस्तावों का सपा, राजद, टीएमसी, बीजद, जदयू ने समर्थन किया। सपा के सांसद रामगोपाल यादव ने जम्मू कश्मीर आरक्षण बिल का समर्थन करते हुए कहा कि राष्ट्रपति शासन की अवधि खत्म हो रही है और इतनी जल्दी चुनाव नहीं हो सकते। वहीं टीएमसी सांसद डेरेक ने कहा कि भारतीयों को फायदा मिले इसलिए हम जम्मू कश्मीर आरक्षण बिल और राष्ट्रपति शासन बढ़ाने के प्रस्ताव का भी समर्थन करते हैं।

इसे भी पढ़ें: लोकमहत्व से जुड़े कई महत्वपूर्ण मु्ददे विशेष उल्लेख के जरिये राज्यसभा में उठाए गए

बीजद सांसद प्रसन्न आचार्य ने कहा कि कल राष्ट्रपति शासन खत्म हो जाएगा इस वजह से बीजद प्रस्ताव का समर्थन करती ह। इसके अलावा जदयू सांसद रामचंद्र प्रसाद ने जम्मू कश्मीर में राष्ट्रपति शासन को बढ़ाने के प्रस्ताव और आरक्षण बिल का समर्थन किया। राजद सांसद मनोज झा ने भी कश्मीर पर लाए गए दोनों प्रस्तावों का समर्थन किया। राज्यसभा में जम्मू कश्मीर में राष्ट्रपति शासन की अवधि बढ़ाने संबंधी प्रस्ताव पर बोलते हुए गृह मंत्री शाह ने कहा कि 2 जुलाई को राष्ट्रपति शासन की अवधि खत्म हो रही है। इसलिए आज का प्रस्ताव इस शासन को और 6 माह बढ़ाने का प्रस्ताव है।

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video