राष्ट्रपति कोविंद तीन दिवसीय पटना दौरे के बाद लौटे दिल्ली,अंतिम दिन किया अरदास

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अक्टूबर 22, 2021   14:35
राष्ट्रपति कोविंद तीन दिवसीय पटना दौरे के बाद लौटे दिल्ली,अंतिम दिन किया अरदास

राष्ट्रपति कोविंद तीन दिवसीय पटना दौरे के बाद दिल्ली के लिए रवाना हुए है।राष्ट्रपति ने शुक्रवार को बिहार खादी ग्रामोद्योग भवन का भी दौरा किया जिसे खादी मॉल के नाम से जाना जाता है, वहां उन्होंने महात्मा गांधी की प्रतिमा के समक्ष सिर झुकाया और चरखा चलाया।

पटना। राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद तीन दिवसीय दौरे के बाद पटना से दिल्ली के लिए रवाना हो गए। इससे पहले शुक्रवार को उन्होंने विभिन्न धार्मिक स्थलों और खादी मॉल का भ्रमण किया। पटना दौरे के क्रम में कोविंद ने शुक्रवार को अपने दिन की शुरुआत तख्त हरमंदिर पटना साहिब की यात्रा के साथ की जो अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रतिष्ठित गुरुद्वारा है, जहां गुरु गोविंद सिंह का जन्म हुआ था और उन्होंने अपना बचपन बिताया था। इसके बाद राष्ट्रपति ने पटना जंक्शन से सटे महावीर मंदिर का दौरा किया। पूजा स्थल का प्रबंधन करने वाले ट्रस्ट के प्रमुख आचार्य किशोर कुणाल ने उन्हें रामचरित मानस की एक प्रति भेंट की। इसके बाद कोविंद पास के बुद्ध स्मृति पार्क गए और विपस्सना केंद्र में कुछ समय बिताया।

इसे भी पढ़ें: अपने संबोधन में प्रधानमंत्री ने गलत जानकारियां दीं, देश से माफी मांगें: कांग्रेस

बृहस्पतिवार को यहां बिहार विधानसभा भवन शताब्दी समारोह को संबोधित करते हुए राष्ट्रपति ने बिहार के राज्यपाल के रूप में यहां रहते हुए ध्यान केंद्र की स्थापना में अपनी सक्रिय रुचि को याद किया था। राष्ट्रपति ने शुक्रवार को बिहार खादी ग्रामोद्योग भवन का भी दौरा किया जिसे खादी मॉल के नाम से जाना जाता है, वहां उन्होंने महात्मा गांधी की प्रतिमा के समक्ष सिर झुकाया और चरखा चलाया। कोविंद, 15 अगस्त 2015 से 20 जून 2017 तक बिहार के राज्यपाल के रूप में कार्यरत थे। शुक्रवार को इन चार स्थानों का भ्रमण करने के बाद राष्ट्रपति विशेष विमान से दिल्ली के लिए रवाना हो गए। राष्ट्रपति के दिल्ली के लिए रवाना होने के समय पटना हवाई अड्डे पर राज्यपाल फागू चौहान, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और बिहार विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा उपस्थित थे।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।