बाबा इकबाल सिंह का निधन, राष्ट्रपति कोविंद, PM मोदी समेत कई नेताओं ने जताया दुख

Baba Iqbal Singh
प्रतिरूप फोटो
अनुराग गुप्ता । Jan 29, 2022 10:54PM
बाबा इकबाल सिंह के निधन पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी समेत इत्यादि लोगों ने शोक व्यक्त किया। राष्ट्रपति कोविंद ने कहा कि शिक्षा, चिकित्सा और समाजसेवा के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान करने वाले इक़बाल सिंह जी के निधन से बहुत दुःख हुआ।

नयी दिल्ली। बाबा इकबाल सिंह का शनिवार को हिमाचल प्रदेश के सिरमौर जिले के बारू साहिब में निधन हो गया। वह 96 साल के थे और काफी समय से बीमार चल रहे थे। प्राप्त जानकारी के मुताबिक, बाबा इकबाल सिंह का चंडीगढ़ के फोर्टिस अस्पताल में इलाज चल रहा था और उन्हें बारू साहिब लाया गया था, जहां पर उन्होंने अंतिम सांस ली। हाल ही में केंद्र सरकार ने बाबा इकबाल सिंह को पद्मश्री पुरस्कार से नवाजा था। 

इसे भी पढ़ें: ओलंपिक में गोल्ड दिलाने वाले महान हॉकी खिलाड़ी चरणजीत सिंह का निधन  

बाबा इकबाल सिंह के निधन पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी समेत इत्यादि लोगों ने शोक व्यक्त किया। राष्ट्रपति कोविंद ने कहा कि शिक्षा, चिकित्सा और समाजसेवा के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान करने वाले इक़बाल सिंह जी के निधन से बहुत दुःख हुआ। उनकी सेवाओं के सम्मान स्वरूप उन्हें वर्ष 2022 में पद्मश्री के लिए चुना गया। उनके परिवार व प्रशंसकों के प्रति मेरी गहन शोक-संवेदनाएं।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि बाबा इकबाल सिंह जी के निधन से आहत हूं। उन्हें युवाओं में शिक्षा बढ़ाने के उनके प्रयासों के लिए याद किया जाएगा। उन्होंने सामाजिक सशक्तिकरण को आगे बढ़ाने की दिशा में अथक प्रयास किया। मेरी संवेदनाएं उनके परिवार और प्रशंसकों के साथ हैं। 

इसे भी पढ़ें: भारत के पूर्व फुटबॉलर सुभाष भौमिक का निधन, 72 वर्ष के उम्र में ली अंतिम सांस  

केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने भी दुख व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि समाजसेवी और परोपकारी शिरोमणि पंथ रतन सरदार बाबा इकबाल सिंह जी के निधन से गहरा दुख हुआ। इस वर्ष पद्मश्री से सम्मानित बाबाजी की मानवता की सेवा के लिए उनके प्रयासों के लिए प्रशंसा और सम्मान किया गया था।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़