प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति ने माकपा नेता सीताराम येचुरी के पुत्र के निधन पर शोक प्रकट किया

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 22, 2021   12:54
प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति ने माकपा नेता सीताराम येचुरी के पुत्र के निधन पर शोक प्रकट किया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बृहस्पतिवार को मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के महासचिव सीताराम येचुरी के बड़े पुत्र आशीष के असामयिक निधन पर शोक व्यक्त किया और परिजनों के प्रति संवेदना जताई।

नयी दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बृहस्पतिवार को मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के महासचिव सीताराम येचुरी के बड़े पुत्र आशीष के असामयिक निधन पर शोक व्यक्त किया और परिजनों के प्रति संवेदना जताई। उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘‘सीतराम येचुरी के पुत्र आशीष के दुखद और असामयिक निधन पर उन्हें और उनके परिवार के प्रति मेरी संवेदनाएं।’’ येचुरी ने बृहस्पतिवार सुबह ट्वीट कर बताया कि उनके बड़े पुत्र आशीष का कोविड-19 से निधन हो गया। वह गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में भर्ती थे।

इसे भी पढ़ें: भारत अपनी अर्थव्यवस्था को कार्बन मुक्त करने को प्रतिबद्ध: धर्मेन्द्र प्रधान 

रामनाथ कोविंद ने बृहस्पतिवार को कहा कि वे माकपा नेता सीताराम येचुरी के पुत्र आशीष के असामयिक निधन से बेहद दुखी हैं और इस पीड़ा को शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता है। मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) महासचिव सीताराम येचुरी के पुत्र आशीष येचुरी का कोरोना वायरस के संक्रमण से आज तड़के निधन हो गया।

 

आशीष (35 वर्ष) पेशे से पत्रकार थे और नौ जून को वह 35 साल के होने वाले थे। वह गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में संक्रमण का इलाज करा रहे थे। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ट्वीट किया ‘‘ आशीष येचुरी के निधन की जानकारी से काफी दुखी और नि:शब्द हूं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ इस गहरे दुख के क्षणों में मेरी संवेदनाएं श्री सीताराम येचुरी, उनके परिवार और प्रियजनों के साथ है। आपको इस अपूरणीय क्षति को सहने की ताकत मिले।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।