प्रियंका गांधी ने BSP पर साधा निशाना, कहा- भाजपा की मदद के लिए उसके अघोषित प्रवक्ताओं ने जारी किया व्हिप

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जुलाई 28, 2020   15:02
प्रियंका गांधी ने BSP पर साधा निशाना, कहा- भाजपा की मदद के लिए उसके अघोषित प्रवक्ताओं ने जारी किया व्हिप

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर बसपा पर निशाना साधते हुए कहा कि भाजपा के अघोषित प्रवक्ताओं ने भाजपा को मदद की व्हिप जारी की है।

नयी दिल्ली। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने राजस्थान में बसपा द्वारा छह विधायकों को अशोक गहलोत सरकार के खिलाफ वोट करने के लिए व्हिप जारी करने को लेकर मंगलवार को आरोप लगाया कि भाजपा की मदद की खातिर उसके ‘अघोषित प्रवक्ताओं’ ने व्हिप जारी किया है। उन्होंने ट्वीट कर बसपा पर निशाना साधते हुए कहा, ‘‘ भाजपा के अघोषित प्रवक्ताओं ने भाजपा को मदद की व्हिप जारी की है। लेकिन ये केवल व्हिप नहीं है बल्कि लोकतंत्र और संविधान की हत्या करने वालों को क्लीन चिट है।’’ 

इसे भी पढ़ें: गहलोत की अध्यक्षता में दो घंटे तक चली कैबिनेट बैठक, 31 जुलाई से ही सत्र बुलाना चाहती है सरकार 

राजस्थान के राजनीतिक घटनाक्रम को एक नया मोड़ देते हुए बहुजन समाज पार्टी (बसपा) ने पिछले साल कांग्रेस में शामिल होने के लिये पार्टी छोड़ने वाले छह विधायकों को विधानसभा में शक्तिपरीक्षण के दौरान सत्तारूढ़ पार्टी (कांग्रेस) के खिलाफ मतदान करने का रविवार को व्हिप जारी किया। उल्लेखनीय है कि 2018 के चुनाव में संदीप यादव, वाजिब अली, दीपचंद खेरिया, लखन मीणा, जोगेंद्र अवाना और राजेंद्र गुधा बसपा के टिकट पर जीतकर विधानसभा पहुंचे थे। उन्होंने पिछले साल 16 सितंबर को कांग्रेस में एक समूह के रूप में विलय के लिए अर्जी दी थी। 

इसे भी पढ़ें: राज्यपाल कलराज मिश्र को हटाने के लिए HC में याचिका, केंद्र सरकार को भी बनाया गया पक्ष 

विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी ने अर्जी के दो दिन बाद आदेश जारी कर घोषित किया कि इन छह विधायकों से कांग्रेस के अभिन्न सदस्य की तरह व्यवहार किया जाए। इस विलय से मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की सरकार को मजबूती मिली और 200 सदस्यीय विधानसभा में कांग्रेस सदस्यों की संख्या बढ़कर 107 हो गई। उधर, भाजपा के एक विधायक ने शुक्रवार को राजस्थान उच्च न्यायालय में याचिका दायर कर बसपा के छह विधायकों के कांग्रेस में विलय को रद्द करने का अनुरोध किया था। बाद में न्यायालय ने इस याचिका को खारिज कर दिया।

इसे भी देखें: Gehlot पर बरसीं Mayawati, Priyanka Vadra ने बहनजी को कहा BJP की अघोषित प्रवक्ता 





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।