जेवर एयरपोर्ट: किसानों के मुआवजे को लेकर भाजपा पर बरसीं प्रियंका, अखिलेश ने भी उठाए सवाल

जेवर एयरपोर्ट: किसानों के मुआवजे को लेकर भाजपा पर बरसीं प्रियंका, अखिलेश ने भी उठाए सवाल

अखिलेश ने एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कहा कि आखिर भाजपा सरकार हवाई अड्डा क्यों बना रही है? एक ओर तो वह हवाई अड्डे बेच रही है तो दूसरी ओर बना क्यों रही है?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज एशिया के सबसे बड़े इंटरनेशनल एयरपोर्ट का शिलान्यास किया। ग्रेटर नोएडा के जेवर में यह एयरपोर्ट बनाया जा रहा है। एयरपोर्ट को लेकर स्थानीय लोगों में खुशी है। साथ ही साथ इसे आगामी चुनाव से भी जोड़कर देखा जा रहा है। माना जा रहा है कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश में चुनावी फायदे के लिए भाजपा की ओर से लगातार शिलान्यास किए जा रहे हैं। इन सबके बीच उत्तर प्रदेश पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी नेता अखिलेश यादव ने जेवर एयरपोर्ट निर्माण को लेकर भाजपा सरकार पर हमला बोला है।

दूसरी ओर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने भी मोदी सरकार और योगी सरकार पर हमला बोला है। प्रियंका गांधी ने किसानों के मुआवजे को लेकर सवाल उठाएं हैं।अखिलेश ने एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कहा कि आखिर भाजपा सरकार हवाई अड्डा क्यों बना रही है? एक ओर तो वह हवाई अड्डे बेच रही है तो दूसरी ओर बना क्यों रही है?

इसके साथ ही अखिलेश ने एक ट्वीट के जरिए भाजपा पर निशाना साधा। अपने ट्वीट में अखिलेश ने लिखा कि अगर सपा सरकार के समय फ़िरोज़ाबाद में प्रस्तावित एयरपोर्ट बनने की अनुमति केंद्र की भाजपा सरकार ने रोकी न होती तो इस समय ‘जेवर’ के साथ ‘चूड़ियों’ को भी जुड़ने का मौका मिलता और उप्र का वैकासिक शृंगार पूर्णता की ओर बढ़ता। सपा ही देगी उप्र के विकास को नयी उड़ान। 

इसे भी पढ़ें: UP में कांग्रेस को मजबूत करने के लिए प्रियंका शुरू करेंगी बड़ा अभियान, एक करोड़ सदस्य जोड़ने का रखा लक्ष्य !

प्रियंका गांधी का निशाना

वहीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने भी जेवर एयरपोर्ट के बहाने भाजपा पर निशाना साधा। प्रियंका गांधी ने एक समाचार चैनल के वीडियो को साझा करते हुए अपने ट्वीट में लिखा कि जेवर के किसानों को मुआवजा क्यों नहीं दिया गया है? क्यों किसान परिवार इस कड़कड़ाती ठंड में तम्बू में रहने को मजबूर हैं? मुआवजा किसानों का हक है। उन्होंने लिखा कि नरेंद्र मोदी जी, किसानों के प्रति यदि आपकी नीयत सच-मुच साफ़ है तो अपने चुनावी अरमानों को पूरा करने के लिए उन्हें बेघर मत छोड़िए। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।