UP में कांग्रेस को मजबूत करने के लिए प्रियंका शुरू करेंगी बड़ा अभियान, एक करोड़ सदस्य जोड़ने का रखा लक्ष्य !

UP में कांग्रेस को मजबूत करने के लिए प्रियंका शुरू करेंगी बड़ा अभियान, एक करोड़ सदस्य जोड़ने का रखा लक्ष्य !

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के मुताबिक कांग्रेस एक पखवाड़े में एक करोड़ सदस्य जोड़ने का लक्ष्य लेकर चलेगी। इसका सीधा उद्देश्य जनता के बीच पार्टी की पैठ को मजबूत बनाना है। साल 2019 के लोकसभा चुनाव से ही प्रियंका ने मोर्चा संभाल लिया था और उनका लक्ष्य 2022 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस का मुख्यमंत्री बनाना था।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के मद्देनजर कांग्रेस लगातार अपनी रणनीतियों पर काम करना शुरू कर चुकी है। इसी बीच पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा 26 नवंबर से 'संविधान दिवस' के मौके पर कांग्रेस का सदस्यता अभियान शुरू करने वाली हैं। इसके माध्यम से प्रियंका प्रदेश में पार्टी को मजबूत करने की कोशिशें करेंगी। माना जा रहा है कि सदस्यता अभियान के माध्यम से कांग्रेस एक करोड़ लोगों को जोड़ेगी। 

इसे भी पढ़ें: बागी कांग्रेस विधायक अदिति सिंह का प्रियंका गांधी पर प्रहार, पूछा- आखिर चाहती क्या हैं? 

कांग्रेस को मजबूत करने में जुटीं प्रियंका 

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के मुताबिक कांग्रेस एक पखवाड़े में एक करोड़ सदस्य जोड़ने का लक्ष्य लेकर चलेगी। इसका सीधा उद्देश्य जनता के बीच पार्टी की पैठ को मजबूत बनाना है। साल 2019 के लोकसभा चुनाव से ही प्रियंका ने मोर्चा संभाल लिया था और उनका लक्ष्य 2022 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस का मुख्यमंत्री बनाना था। हालांकि उत्तर प्रदेश में भाजपा और समाजवादी पार्टी के बीच कांटे की टक्कर दिखाई दे रही है और कांग्रेस अभी भी अपनी जमीन तलाश रही है। 

इसे भी पढ़ें: कांग्रेस ने इंदिरा गांधी की जयंती पर उन्हें किया याद, प्रियंका ने फोटो साझा कर लिखा- लड़की हूं, लड़ सकती हूं 

इसी महीेने की शुरुआत में उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के निर्देश पर जिले में सदस्यता अभियान शुरू किया गया था लेकिन अब बड़े स्तर पर प्रियंका इसकी शुरुआत करने वाली हैं। इसके साथ ही एक करोड़ सदस्य बनाने के लक्ष्य को हासिल करने के लिए विभिन्न विधानसभा क्षेत्रों में टीमों का गठन होगा। पार्टी के एक वरिष्ठ नेता बताया कि कांग्रेस का जनाधार बढ़ा है और लोग लगातार भरोसा भी जता रहे हैं।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।