राज्य में औषधीय पौधों और लेमन ग्रास की खेती को बढ़ावा दें : हेमंत सोरेन

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अक्टूबर 1, 2021   08:41
राज्य में औषधीय पौधों और लेमन ग्रास की खेती को बढ़ावा दें : हेमंत सोरेन
प्रतिरूप फोटो

गृह विभाग की समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री सोरेन ने कहा कि वन विभाग के अधिकारियों को राज्य में अवैध रूप से हो रही अफीम की खेती पर कड़ाई से निगरानी करें और अफीम की फसल को नष्ट करने की दिशा में कदम उठाएं।

झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने बृहस्पतिवार को गृह विभाग की समीक्षा बैठक में कहा कि राज्य में औषधीय पौधों और लेमन ग्रास की खेती को बढ़ावा दिया जाना चाहिए, वहीं अफीम और अन्य मादक पदार्थों की अवैध खेती करने वाले लोगों को हतोत्साहित करना होगा।

गृह विभाग की समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री सोरेन ने कहा कि राज्य के कुछ जिलों में अफीम की खेती बड़े पैमाने पर अवैध रूप से हो रही है जो चिंता का विषय है। उन्होंने निर्देश दिया कि पुलिस पदाधिकारी इसे रोकने की दिशा में आवश्यक और कठोर कदम उठाएं।

इसे भी पढ़ें: अवैध खनन पर हर हाल में रोक लगनी चाहिए : मुख्यमंत्री

उन्होंने यह भी कहा कि वन भूमि पर भी मादक पदार्थों की खेती की बात सामने आ रही है। वन विभाग के अधिकारी इसकी कड़ाई से इसकी निगरानी करें और अफीम की फसल को नष्ट करने की दिशा में कदम उठाएं।

पुलिस महानिदेशक नीरज सिन्हा ने बताया कि राज्य के सुदूरवर्ती इलाकों में अफीम की खेती की निगरानी के लिए अब सेटेलाइट इमेजिंग की मदद लेने पर विचार किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि पिछले तीन साल में मादक पदार्थ/ एनडीपीएस के कुल 372 मामले सामने आए हैं और इस सिलसिले में 576 लोगों की गिरफ्तारी हुई है।

इसे भी पढ़ें: प्रत्येक अस्पताल में ऑक्सीजन प्लांट के साथ-साथ सिलेंडर की भी व्यवस्था सुनिश्चित करें : सोरेन





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...