Prabhasakshi's Newsroom। लखीमपुर खीरी को लेकर महाराष्ट्र बंद । कोयला संकट के बीच सियासत तेज

Prabhasakshi's Newsroom। लखीमपुर खीरी को लेकर महाराष्ट्र बंद । कोयला संकट के बीच सियासत तेज

महाराष्ट्र में किसानों के समर्थन में बंद का आह्वान किया गया है। एमवीए गठबंधन का कहना है कि आवश्यक सेवाओं को छोड़कर सबकुछ बंद रहेगा। हालांकि लोकल ट्रेन नियमित समय पर चल रही हैं।

लखीमपुर खीरी हिंसा मामले को लेकर महाराष्ट्र की एमवीए सरकार ने राज्यव्यापी बंद का आह्वान किया है। जिसका असर दिखाई दे रहा है। सड़कें बिल्कुल खाली हैं, दुकानें बंद लेकिन लोकल ट्रेन अपने समय पर चल रही है। वहीं दूसरी तरह कोयला संकट को लेकर सियासत तेज हो गई है। केंद्र और दिल्ली सरकार के बीच एक बार फिर से तकरार देखने को मिल रही है और अंत में बात होगी सदी के महानायक की। 

इसे भी पढ़ें: नेतागीरी का मतलब फॉर्च्यूनर से किसी को कुचलना नहीं, लखीमपुर खीरी कांड के बाद बोले यूपी चीफ

महाराष्ट्र बंद

महाराष्ट्र में किसानों के समर्थन में बंद का आह्वान किया गया है। एमवीए गठबंधन का कहना है कि आवश्यक सेवाओं को छोड़कर सबकुछ बंद रहेगा। हालांकि लोकल ट्रेन नियमित समय पर चल रही हैं। मुंबई में ज्यादातर दुकानें बंद दिखाई दे रही हैं और बसें भी लगभग बंद ही हैं। सड़क पर निजी वाहन दिखाई दे रहे हैं। वहीं रेल रोको की संभावनाओं को देखते हुए कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई है।

डीसीपी प्रणय अशोक ने बताया कि किसी को कोई समस्या न हो इसलिए सुरक्षा व्यवस्था कड़ी की गई है।

वहीं दूसरी तरफ एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर लखीमपुर खीरी हिंसा को लेकर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी अजय मिश्रा को कैबिनेट से क्यों नहीं हटाते ? 

इसे भी पढ़ें: कलेश से परेशान महिला ने अपने पति का गला घोंटा, पुलिस ने किया गिरफ्तार 

कोयला संकट पर सियासत तेज

देश में कोयले की कमी के चलते बिजली संकट की संभावनाएं जताई जा रही हैं। इसी बीच केंद्रीय ऊर्जा मंत्री आरके सिंह ने बीएसईएस और टाटा पावर के पदाधिकारियों के साथ बैठक की। इस बैठक के बाद केंद्रीय ऊर्जा मंत्री ने बताया कि हमने आज सभी पदाधिकारियों की बैठक बुलाई थी। दिल्ली में जितनी बिजली की आवश्यकता है, उतनी बिजली की आपूर्ति हो रही है और होती रहेगी।

वहीं दूसरी तरफ दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि बिजली संकट को लेकर केंद्र सरकार ने अपनी आंखें बंद कर ली हैं। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और दूसरे राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने भी मुद्दा उठाया है लेकिन केंद्र ने आंखें मूंद ली हैं। 

इसे भी पढ़ें: बढ़त के साथ खुला शेयर बाजार, सेसेंक्स 100 अंक के पार; निफ्टी में भी तेजी 

बिग बी का जन्मदिन आज

साल के दसवें महीने की 11वीं तारीख को जन्मे इस शख्स को कोई एंग्री यंगमैन कहता है, कोई सदी का महानायक, कोई बिग बी तो कोई शहंशाह, उनके जितने प्रशंसक, उतने ही नाम। हम बात कर रहे हैं हिंदी सिनेमा के सर्वकालिक लोकप्रिय अदाकार अमिताभ बच्चन की।

भारत के सिनेमा के इतिहास में युग पुरूष का दर्जा रखने वाले हरदिल अजीज कलाकार अमिताभ बच्चन का जन्म 11 अक्टूबर को ही हुआ था। इलाहाबाद में 11 अक्टूबर 1942 को जन्मे अमिताभ ने 1969 में फिल्म सात हिंदुस्तानी से अपने फिल्मी करियर की शुरुआत की, लेकिन 1973 में आई फिल्म ‘जंजीर’ में पुलिस इंस्पैक्टर की उनकी भूमिका ने उन्हें एंग्री यंगमैन का तमगा दिलाया। इसके बाद लगातार वो सफलता की सीढ़ियां चढ़ते रहें।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...