पंजाब कांग्रेस ने लोगों से की अपील, केंद्र के भेदभाव के खिलाफ 1 मई को फहरायें झंडा

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 29, 2020   10:00
पंजाब कांग्रेस ने लोगों से की अपील, केंद्र के भेदभाव के खिलाफ 1 मई को फहरायें झंडा

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य को इस महामारी के कारण हर महीने 3360 करोड़ रुपये के राजस्व की हानि हो रही है और इस संक्रमण से निपटने के लिये जारी लॉकडाउन के कारण यह घाटा एक साल में करीब 50 हजार करोड़ रुपये का हो जायेगा। उन्होंने दावा किया कि इस बीमारी के संकट से निपटने के लिये राज्य को केंद्र से किसी प्रकार की मदद नहीं मिली है।

चंडीगढ़। पंजाब में कांग्रेस ने कोरोना वायरस महामारी के मद्देनजर मदद करने में गैर भाजपा शासित राज्यों के साथ केंद्र पर भेदभाव करने का आरोप लगाया और लोगों से कहा कि इसका विरोध करने के लिये वह एक मई को अपने घरों में ही तिरंगा झंडा फहरायें। पंजाब की कांग्रेस सरकार ने कोरोना वायरस संकट के से निबटने के लिए केंद्र सरकार से 20 हजार करोड़ रुपये की तत्काल राहत की मांग की है। कांग्रेस की ओर से जारी बयान में कहा गया है ​कि पार्टी विधायकों के साथ एक वीडियो काफ्रेंस के दौरान प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सुनील जाखड़ ने यह प्रस्ताव दिया जिसका मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने समर्थन किया। 

इसे भी पढ़ें: 11 मई तक न्यायिक हिरासत में नीरव मोदी, वीडियो लिंक से होगी सुनवाई

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य को इस महामारी के कारण हर महीने 3360 करोड़ रुपये के राजस्व की हानि हो रही है और इस संक्रमण से निपटने के लिये जारी लॉकडाउन के कारण यह घाटा एक साल में करीब 50 हजार करोड़ रुपये का हो जायेगा। उन्होंने दावा किया कि इस बीमारी के संकट से निपटने के लिये राज्य को केंद्र से किसी प्रकार की मदद नहीं मिली है। जाखड़ ने कहा कि यह संयोग ही है कि मजूदर दिवस के दिन इस कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। इस अप्रत्याशित संकट के दौर में यह कार्यक्रम केंद्रीय सहायता में पंजाब के अधिकार को रेखांकित करेगा। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहहा, पंजाब भारत का अभिन्न अंग है और केंद्र सरकार हमारे खिलाफ भेदभाव नहीं कर सकती है। उन्होंने कहा कि यह कार्यक्रम किसानों, श्रमिकों एवं सभी कोरोना योद्धाओं के साथ एकजुटता प्रदर्शित करेगा, जो इस संकट की घड़ी में सबसे आगे खड़े हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।