राफेल की खरीद में फ्रांस की तरफ से कोई ‘सरकारी गारंटी’ नहीं

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 15, 2018   17:34
राफेल  की खरीद में फ्रांस की तरफ से कोई ‘सरकारी गारंटी’ नहीं

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने बृहस्पतिवार को राफेल विमान सौदे को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर फिर से निशाना साधा और आरोप लगाया कि लड़ाकू विमान की खरीद के संदर्भ में फ्रांस की तरफ से कोई ‘सरकारी गारंटी’ नहीं दी गई है।

नयी दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने बृहस्पतिवार को राफेल विमान सौदे को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर फिर से निशाना साधा और आरोप लगाया कि लड़ाकू विमान की खरीद के संदर्भ में फ्रांस की तरफ से कोई ‘सरकारी गारंटी’ नहीं दी गई है। गांधी ने ट्वीट कर कहा, ‘‘राफेल मामले में ताजी कड़ी सामने आई है। (सौदे को लेकर) फ्रांस की सरकार ने कोई गारंटी नहीं दी है। लेकिन हमारे प्रधानमंत्री कहते हैं कि फ्रांस की सरकार ने भरोसेमंद बने रहने के लिए एक पत्र दिया है।’’उन्होंने सवाल किया, ‘‘क्या यह सरकारों के बीच समझौता कहे जाने का पर्याप्त आधार है?’’इससे पहले कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने भी बैंक गारंटी/ सरकारी गारंटी के मुद्दे को लेकर प्रधानमंत्री पर निशाना साधा। सुरजेवाला ने दावा किया, 'प्रधानमंत्री ने बैंक गारंटी को माफ कर दिया जो देश की सुरक्षा से खिलवाड़ है। जबकि कानून मंत्रालय ने राय दी थी कि बैंक गारंटी फ्रांस की सरकार से ली जाए।"

उन्होंने कहा, 'सात मार्च 2016 को तत्कालीन रक्षा मंत्री ने कानून मंत्रालय की राय से अलग राय रखने से इनकार कर दिया। एयर अक्वेजिशन विंग ने साफ कहा कि बैंक गारंटी के बगैर सौदा नहीं हो सकता। लेकिन मोदी जी कहते हैं कि बैंक गारंटी की कोई जरूरत नहीं है। उन्होंने कानून मंत्रालय, एयर अक्वेजिशन विंग और अपने रक्षा मंत्री की राय को खारिज कर दिया।' उन्होंने सवाल किया कि प्रधानमंत्री ने राष्ट्रीय हित से समझौता क्यों किया?। कांग्रेस एवं राहुल गांधी के ताजा आरोपों पर सरकार या भाजपा की तरफ से फिलहाल कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...