राहुल की मांग, कोविड अस्पताल में आग लगने की गंभीरता से जांच होनी चाहिए

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 27, 2020   14:16
राहुल की मांग, कोविड अस्पताल में आग लगने की गंभीरता से जांच होनी चाहिए

अग्निशमन विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि अस्पताल में कोरोना वायरस से संक्रमित जिन 26 अन्य मरीजों का इलाज चल रहा था, उन्हें सुरक्षित बचा लिया गया है। इन सभी को दूसरे अस्पतालों में भर्ती कराया गया है।

नयी दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने गुजरात के राजकोट में कोरोना वायरस के उपचार के लिए निर्धारित एक अस्पताल में आग लगने की घटना पर दुख जताते हुए शुक्रवार को कहा कि सरकार को ऐसी घटनाओं की गंभीरता से जांच करानी चाहिए। उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘राजकोट के कोविड अस्पताल में आग लगने की खबर परेशान करने वाली है। अगस्त महीने में इसी तरह अहमदाबाद में भी आग लगी थी। सरकार को इन मामलों की गंभीरता से जांच करनी चाहिए।’’

कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘अपनी जान गंवाने वाले मरीजों के परिवारों के प्रति मेरी संवेदना है।’’ उल्लेखनीय है कि राजकोट शहर में बृहस्पतिवार देर रात निर्दिष्ट कोविड-19 अस्पताल के आईसीयू में आग लगने से पांच मरीजों की मौत हो गई। अग्निशमन विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि अस्पताल में कोरोना वायरस से संक्रमित जिन 26 अन्य मरीजों का इलाज चल रहा था, उन्हें सुरक्षित बचा लिया गया है। इन सभी को दूसरे अस्पतालों में भर्ती कराया गया है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।