पटियाला की घटना को दुखद बताते हुए राहुल गांधी बोले, पंजाब जैसे राज्य में शांति और सद्भाव जरूरी

पटियाला की घटना को दुखद बताते हुए राहुल गांधी बोले, पंजाब जैसे राज्य में शांति और सद्भाव जरूरी

राहुल गांधी ने अपने ट्वीट में कहा कि पटियाला के दृश्य विचलित करने वाले हैं। उन्होंने कहा कि मैं दोहराता हूं, पंजाब जैसे संवेदनशील सीमावर्ती राज्य में शांति और सद्भाव सबसे जरूरी है। यह प्रयोग करने की जगह नहीं है। पंजाब सरकार से कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए गंभीरता से अपील करें।

पंजाब के पटियाला में शुक्रवार को दो समूहों के बीच झड़प हो गई। इसके बाद से स्थिति को नियंत्रित करने के लिए पुलिस को हवा में गोलियां चलानी पड़ी। इस घटना को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने दुख जताया है। राहुल गांधी ने अपने ट्वीट में कहा कि पटियाला के दृश्य विचलित करने वाले हैं। उन्होंने कहा कि मैं दोहराता हूं, पंजाब जैसे संवेदनशील सीमावर्ती राज्य में शांति और सद्भाव सबसे जरूरी है। यह प्रयोग करने की जगह नहीं है। पंजाब सरकार से कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए गंभीरता से अपील करें।

वहीं पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने इस घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा मैंने डीजीपी से बात की, इलाके में शांति बहाल कर दी गई है। हम स्थिति की बारीकी से निगरानी कर रहे हैं और किसी को भी राज्य में अशांति पैदा नहीं करने देंगे। पंजाब की शांति और सद्भाव अत्यंत महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा कि पंजाब में शांति और सद्भाव बहुत महत्वपूर्ण है। इस प्रकरण पर पुलिस महानिरीक्षक ने कहा कि यह घटना इसलिए हुई क्योंकि ‘‘चंद शरारती तत्वों ने कुछ अफवाहें फैलाई थीं। हमने स्थिति को नियंत्रित किया है। हम पटियाला शहर में फ्लैग मार्च कर रहे हैं।’’

इसे भी पढ़ें: 97 फीसदी को लगी फर्स्ट डोज, ICU बेड की कमी नहीं, भगवंत मान का दावा- चौथी लहर को लेकर पंजाब पूरी तरह तैयार

न्यू पटियाला के एसएसपी डॉ. नानक सिंह ने कहा कि बयान दर्ज़ किए जा रहे हैं, जिसकी ग़लती है उसे गिरफ़्तार किया जाएगा। कार्रवाई की जाएगी। पुलिस की तरफ से बताया गया था कि मार्च नहीं निकाला जाएगा। कल इन्होंने मार्च निकालने के लिए अनुमति मांगी थी, जिसे अस्वीकार कर दिया गया था। आप नेता राघव चड्डा ने कहा कि पंजाब की अमन-शांति और भाईचारे के साथ खिलवाड़ करने वाले किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा। पंजाब पुलिस ने मामले को सामान्य करते हुए कई लोगों को गिरफ़्तार भी किया है। इस हिंसा में जो लोग थे उनके खिलाफ पंजाब पुलिस और सरकार सख्त से सख्त कार्रवाई करने जा रही है। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।