Rahul Gandhi ने कहा कि केंद्र सरकार लोगों का ध्यान भटकाकर उन्हें लूट रही है

Rahul Gandhi
प्रतिरूप फोटो
ANI
कांग्रेस नेता राहुल गांधी की अगुवाई वाली ‘‘भारत जोड़ो यात्रा’’ बृहस्पतिवार को जम्मू-कश्मीर पहुंची। सितंबर में कन्याकुमारी से शुरू हुई यह यात्रा 30 जनवरी को श्रीनगर में संपन्न होगी। यहां एक रैली को संबोधित करते हुए कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने कहा कि वह कन्याकुमारी से पैदल चलकर कश्मीर आए और हजारों लोगों से बात की।

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ‘‘भारत जोड़ो यात्रा’’ के जम्मू-कश्मीर में प्रवेश करने के बाद बृहस्पतिवार को आरोप लगाया कि केंद्र सरकार लोगों का ध्यान भटकाकर उनकी ‘‘जेब काट रही है और उन्हें लूट रही है।’’ कांग्रेस नेता राहुल गांधी की अगुवाई वाली ‘‘भारत जोड़ो यात्रा’’ बृहस्पतिवार को जम्मू-कश्मीर पहुंची। सितंबर में कन्याकुमारी से शुरू हुई यह यात्रा 30 जनवरी को श्रीनगर में संपन्न होगी। यहां एक रैली को संबोधित करते हुए कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने कहा कि वह कन्याकुमारी से पैदल चलकर कश्मीर आए और हजारों लोगों से बात की।

शाम होने और तापमान में गिरावट के बीच सैकड़ों लोग राहुल गांधी के साथ चले। इस दौरान, कांग्रेस की पंजाब इकाई ने जम्मू-कश्मीर इकाई के एक नेता को पार्टी का झंडा भी दिया। राहुल गांधी ने दावा किया, ‘‘भाजपा और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) ने नफरत फैलाई है। पहले मैंने सोचा था कि यह बहुत गहराई तक फैला है, लेकिन ऐसा नहीं है और ऐसा मुख्य रूप से टेलीविजन पर दिखाई देता है।’’ उन्होंने नफरत, हिंसा, बेरोजगारी और महंगाई को देश के मुख्य मुद्दे करार देते हुए मीडिया पर इन्हें उजागर न करने का आरोप लगाया।

राहुल गांधी ने आरोप लगाया कि मीडिया लोगों का ध्यान भटकाने के लिए बॉलीवुड सितारों - ऐश्वर्य राय और अक्षय कुमार जैसे विषयों का सहारा लेता है। उन्होंने कहा, ‘‘मेरे पूर्वज इसी भूमि से संबंध रखते थे, मुझे लगता है कि मैं घर वापस लौट रहा हूं। मैं अपनी जड़ों की ओर लौट रहा हूं, मैं जम्मू-कश्मीर के लोगों की पीड़ा समझता हूं और सिर झुकाकर आपके पास आया हूं।’’

कांग्रेस नेता ने कहा कि वह दिन में लगभग सात घंटे चलते हैं और हर दिन 25 किलोमीटर की दूरी तय करते हैं, लेकिन कुछ लोगों की भविष्यवाणी के उलट इस दौरान यात्रा में कोई भी नहीं थका। उन्होंने कहा, ‘‘मुझे बाद में लगा कि हम थकान महसूस नहीं कर रहे हैं क्योंकि लोग हमें आगे बढ़ा रहे हैं। अगर कोई गिरता है, तो उसे चंद सेकेंड में सहारा मिल जाता है... कोई किसी से नहीं पूछ रहा कि आपका धर्म क्या है।’’

राहुल गांधी ने दावा किया कि ‘दो भारत’ बनाए जाने का एक अहम बिंदु यह भी है कि एक गरीबों के लिए है जबकि दूसरा कारपोरेट जगत के लिए है। इससे पहले, नेशनल कॉन्फ्रेंस (नेकां) के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला और पार्टी के वरिष्ठ नेतागण बृहस्पतिवार को राहुल गांधी की अगुवाई वाली ‘‘भारत जोड़ो यात्रा’’ के जम्मू कश्मीर में दाखिल होने पर उनका स्वागत करने पहुंचे। नेशनल कॉन्फ्रेंस के एक नेता ने कहा कि पार्टी के नेता और कार्यकर्ता कई वाहनों में यात्रा में शामिल होने के लिए निकले।

फारूक अब्दुल्ला ने शंकराचार्य और राहुल गांधी की तुलना करते हुए कहा, ‘‘कई साल पहले, शंकराचार्य ने कन्याकुमारी से कश्मीर तक यात्रा की थी और आज आप ऐसा कर रहे हैं।’’ उन्होंने दावा किया, ‘‘आज का भारत, ‘राम के भारत’ या गांधी के हिंदुस्तान का नहीं है क्योंकि लोग धर्म के नाम पर बंटे हुए हैं। अगर हम एक साथ होते हैं, तो हम मौजूदा समय की नफरत को दूर कर सकते हैं।’’ जम्मू-कश्मीर में यात्रा के प्रवेश के बाद कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं जयराम रमेश, अशोक गहलोत, दिग्विजय सिंह के अलावा अब्दुल्ला, शिवसेना नेता संजय राउत, पूर्व मंत्री लाल सिंह और अवामी नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता मुजफ्फर शाह सहित कई नेताओं ने राहुल गांधी का स्वागत किया।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़