राम मंदिर के बाद विश्व की सांस्कृतिक राजधानी बनकर उभरेगा अयोध्या

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  दिसंबर 31, 2020   20:09
राम मंदिर के बाद विश्व की सांस्कृतिक राजधानी बनकर उभरेगा अयोध्या

श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के कोषाध्यक्ष स्वामी गोविंद देव गिरिजी महाराज ने कहा ने चंदा अभियान के दौरान 1,000 रुपये, 100 रुपये और 10 रुपये के कूपनों का इस्तेमाल होगा और रकम तुरंत ट्रस्ट के खाते में जमा करा दी जाएगी।

पुणे। श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के कोषाध्यक्ष ने बृहस्पतिवार को कहा कि अयोध्या में बनने वाला राम मंदिर सभी श्रद्धालुओं को जोड़ेगा और उत्तर प्रदेश का यह शहर विश्व की सांस्कृतिक राजधानी के तौर पर उभरेगा। श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के कोषाध्यक्ष स्वामी गोविंद देव गिरिजी महाराज ने कहा कि मंदिर के लिए चंदा जमा करने का राष्ट्रव्यापी अभियान 15 जनवरी को शुरू किया जाएगा। उन्होंने यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि इस अभियान का मकसद देश के चार लाख गांवों में 11 करोड़ घरों में पहुंचना है। गिरिजी महाराज ने कहा ने चंदा अभियान के दौरान 1,000 रुपये, 100 रुपये और 10 रुपये के कूपनों का इस्तेमाल होगा और रकम तुरंत ट्रस्ट के खाते में जमा करा दी जाएगी। 

इसे भी पढ़ें: श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए चाहत ने साल 2020 में जमा किए पैसे दिए दान, कोरोना योद्धाओं के लिए जलाए दीप

उन्होंने कहा, ‘‘हमारा लक्ष्य राम मंदिर बनने के बाद भारत, एशिया और विश्व के श्रद्धालुओं को जोड़ते हुए अयोध्या को दुनिया की सांस्कृतिक राजधानी बनाना है।’’ नागपुर में 28 दिसंबर को संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए ट्रस्ट के कोषाध्यक्ष ने कहा था कि मुख्य निर्माण समेत राम मंदिर परिसर के निर्माण पर करीब 1100 करोड़ रुपये की लागत आएगी और साढ़े तीन साल में यह काम पूरा हो जाएगा।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।