राष्ट्रपत्नी बोलने पर अधीर रंजन की बढ़ी मुश्किलें, NCW ने भेजा नोटिस, आपत्तिजनक बयान के लिए 3 अगस्त को पेश होने के लिए कहा

Adhir Ranjan Chowdhury
ANI Image
राष्ट्रीय महिला आयोग ने कांग्रेस सांसद अधीर रंजन को व्यक्तिगत रूप से पेश होने और अपने बयान के लिए लिखित स्पष्टीकरण देने के लिए एक नोटिस भेजा है। सुनवाई 3 अगस्त को सुबह 11:30 बजे निर्धारित की गई है। दरअसल, अधीर रंजन ने राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को लेकर आपत्तिजनक बयान दिया था।

नयी दिल्ली। कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी की मुश्किलें लगातार बढ़ती ही जा रही हैं। उन्होंने गुरुवार को राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को लेकर आपत्तिजनक बयान दिया। जिसको लेकर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) अधीर रंजन और कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया गांधी पर हमलावर है। इसी बीच राष्ट्रीय महिला आयोग ने भी अधीर रंजन को नोटिस भेजा है। साथ ही साथ राष्ट्रीय महिला आयोग ने सोनिया गांधी से इस मामले में हस्तक्षेप की मांग की है।

इसे भी पढ़ें: 'मेरी हिंदी अच्छी नहीं', अपने बयान पर बोले अधीर रंजन- राष्ट्रपति मुर्मू से मांगूंगा माफी, इन पाखंडियों से नहीं 

अधीर रंजन पर गिरी गाज

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, राष्ट्रीय महिला आयोग ने कांग्रेस सांसद अधीर रंजन को व्यक्तिगत रूप से पेश होने और अपने बयान के लिए लिखित स्पष्टीकरण देने के लिए एक नोटिस भेजा है। सुनवाई 3 अगस्त को सुबह 11:30 बजे निर्धारित की गई है। राष्ट्रीय महिला आयोग ने सोनिया गांधी को भी इस मामले में हस्तक्षेप करने और अधीर रंजन के खिलाफ उनके आपत्तिजनक बयान के लिए उचित कार्रवाई करने के लिए पत्र लिखा है।

इसे भी पढ़ें: कभी PM को बताया घुसपैठिया तो कभी कश्मीर पर दिया विवादित बयान, अपनी बातों से पार्टी की फजीहत कराना अधीर रंजन की सबसे पसंदीदा गलती है 

अधीर रंजन ने मांगी माफी

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को लेकर आपत्तिजनक बयान मामले में अधीर रंजन ने माफी मांगी है। उन्होंने कहा कि मेरे जुबान से गलती से राष्ट्रपत्नि निकला, मैंने अपनी गलती स्वीकारी...वे चुनाव के दौरान सोनिया गांधी के बारे में क्या कहते हैं? शशि थरूर की पत्नी और रेणुका चौधरी के बारे में क्या कहा? मैंने राष्ट्रपति से समय मांगा, मैं उनसे बात कर माफी मांगूंगा।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़