रतलाम रेल मंडल ने कोरोना संक्रमितों की सुविधा के लिए जारी किया व्हाट्सएप नम्बर

रतलाम रेल मंडल ने कोरोना संक्रमितों की सुविधा के लिए जारी किया व्हाट्सएप नम्बर

कोरोना संक्रमित कर्मचारियों से रेलवे का अन्य कर्मचारी या स्वास्थ्य विभाग का स्टाफ संक्रमित न हो इसके लिए रतलाम मंडल के स्वास्थ्य विभाग द्वारा मंडल चिकित्सालय रतलाम सहित मंडल के सभी सात स्वास्थ्य केन्द्रों का व्हाट्सएप नम्बर जारी किया गया है।

रतलाम। पश्चिम रेलवे रतलाम मंडल के स्वास्थ्य विभाग ने कोरोना पीडितों के लिए मंडल चिकित्सालय रतलाम एवं रतलाम मंडल के अन्य स्वास्थ्य केन्द्रों का व्हाट्सएप नम्बर जारी किया है, जिसमें कोरोना पीड़ित अपनी आरटीपीसीआर, आरएट/सिटी स्कैन आदि रिपोर्ट भेज कर उचित परामर्श प्राप्त कर सकते हैं। 

  

इसे भी पढ़ें: अनूपपुर के बिजुरी स्वास्थ्य केंद्र पर कोरोना टेस्ट के लिए लग रही लंबी लाइन, लेकिन यहाँ है किट का रोना

मंडल रेल प्रवक्ता जितेन्द्र कुमार जयंत ने बताया कि  वर्तमान कोरोना संक्रमण काल में कई रेलवे के कर्मचारी एवं अधिकारी कोरोना से संक्रमित हो रहे हैं। कोरोना संक्रमित कर्मचारियों से रेलवे का अन्य कर्मचारी या स्वास्थ्य विभाग का स्टाफ संक्रमित न हो इसके लिए रतलाम मंडल के स्वास्थ्य विभाग द्वारा मंडल चिकित्सालय रतलाम सहित मंडल के सभी सात स्वास्थ्य केन्द्रों का व्हाट्सएप नम्बर जारी किया गया है। 

मंडल चिकित्सालय रतलाम के लिए अरविंद सैनी- 9752492528, निलेश जैन-  7987025841, स्वास्थ्य केन्द्र डॉ. अम्बेडकर नगर- 9752492541, स्वास्थ्य केन्द्र इंदौर- 9584831830, स्वास्थ्य केन्द्र उज्जैन- 9752492535, स्वास्थ्य केन्द्र्र नागदा- 7898896953, स्वास्थ्य केन्द्र नीमच- 8789166449, स्वास्थ्य केन्द्र चित्तौड़गढ़- 9001192546, स्वास्थ्य केन्द्र्र दाहोद- 9723392588 आदि नम्बरों पर कोरोना संक्रमित व्यक्ति अपनी आरटीपीसीआर/आरएटी/सिटी स्कैन की रिपोर्ट  व्हाट्सएप कर सकता है। 

 

इसे भी पढ़ें: ग्वालियर में ऑक्सीजन की कमी से हुई दो लोगों की मौत, कमलनाथ ने कही यह बात

यह रिपोर्ट चिकित्सक को दिखाकर कोरोना पीड़ित मरीज उनसे उचित राय ले सकेगा। जिसमें चिकित्सक उसे परामर्श देंगे कि वह अस्पताल में भर्ती हो या फिर घर पर रहे। चिकित्सक के निर्देशानुसार यदि घर पर रहकर दवाई लेता है तो पूरे कोर्स की दवाई का कोरोना किट संबंधित परिवार के सदस्य को या मित्र को उपलब्ध करा दी जाएगी। इससे कोरोना के प्रसार को भी रोका जा सकेगा तथा मरीज को घर पर ही उचित सुविधाएं प्राप्त होगी।   





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।