18 से अधिक उम्र के लोगों के वैक्सीनेशन के लिए बुधवार से होगा ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन, जानें जरूरी बातें

18 से अधिक उम्र के लोगों के वैक्सीनेशन के लिए बुधवार से होगा ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन, जानें जरूरी बातें

पहले और दूसरे चरण की तरह, पंजीकरण cowin.gov.in वेबसाइट के माध्यम से और आरोग्य सेतु मोबाइल ऐप के माध्यम से किया जाएगा, लेकिन इस चरण में कोई भी वॉक-इन पंजीकरण नहीं होगा।

18 वर्ष से अधिक आयु के सभी नागरिक बुधवार शाम 4 बजे से शुरू होने वाले कोविड-19 वैक्सीन के लिए अपना पंजीकरण करा सकते हैं। बता दें कि सरकार 1 मई से तीसरे चरण के टीकाकरण अभियान को शुरू करने के लिए तैयार हो गई है। 18 प्लस के टीकाकरण के लिए आरोग्य सेतु ने एक ट्वीट में इसकी जानकारी देते हुए लिखा, "28 अप्रैल को सुबह 4 बजे http://cowin.gov.in, आरोग्य सेतु ऐप और UMANG ऐप पर पंजीकरण के लिए 18 से अधिक पंजीकरण शुरू। 1 मई को कितने टीकाकरण केंद्र तैयार हैं, इसके आधार पर राज्य सरकार के केंद्रों और प्राइवेट केंद्रों पर नियुक्तियां तय होगी"।

इसे भी पढ़ें: असम में भूकंप: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने CM से की बात, बोले- हालात पर हमारी नजर

 राष्ट्रीय टीकाकरण अभियान के तीसरे चरण के तहत, वैक्सीन निर्माता अपनी मासिक सेंट्रल ड्रग्स लेबोरेटरी (सीडीएल) की 50 प्रतिशत आपूर्ति केंद्र सरकार को जारी करेंगे। वह राज्य सरकारों और खुले बाजार में शेष 50 प्रतिशत खुराक की आपूर्ति करने के लिए स्वतंत्र होंगे। बता दें कि केंद्र फ्रंटलाइन कार्यकर्ता, स्वास्थ्य कार्यकर्ता और 45 से ऊपर के लोगों को टीकाकरण जारी रखेगा।

इसे भी पढ़ें: असम समेत पूर्वोत्तर में भूकंप के तेज झटके, पीएम मोदी ने केंद्र से हर संभव मदद का आश्वासन दिया

सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने राज्यों के लिए 400 प्रति खुराक और निजी अस्पतालों के लिए 600 प्रति खुराक पर कोविशिल्ड वैक्सीन की कीमत तय की है वहीं भारत बायोटेक ने राज्यों को 600 प्रति खुराक पर और निजी अस्पतालों को प्रति खुराक 1200  कोविक्सिन बेचने का फैसला किया है। केंद्र ने हालांकि, दवा निर्माताओं को अपनी कीमतें कम करने को कहा है। सरकार ने कहा, सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के कोविशिल्ड और भारत बायोटेक के कोवाक्सिन के अलावा, रूस के स्पुतनिक का जल्द ही इस्तेमाल किया जाएगा। पहले और दूसरे चरण की तरह, पंजीकरण cowin.gov.in वेबसाइट के माध्यम से और आरोग्य सेतु मोबाइल ऐप के माध्यम से किया जाएगा, लेकिन इस चरण में कोई भी वॉक-इन पंजीकरण नहीं होगा।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।