• आतंकवादी हमले की आशंका के चलते पठानकोट में बढ़ाई गई सुरक्षा, सीमा से सटे गांवों पर भी हो रही निगरानी

आतंकवादी हमले की आशंका के चलते पठानकोट में सुरक्षा बढ़ा दी गई है। पुलिस लगातार पेट्रोलिंग कर रही है और आवाजाही वाहनों की तलाशी ली जा रही है। वहीं, जम्मू-कश्मीर और हिमाचल प्रदेश की सीमाओं को सील कर दिया गया है।

चंडीगढ़। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल द्वारा दो आतंकवादी समेत 6 लोगों की गिरफ्तारी किए जाने के बाद पंजाब में भी आतंकवादी पकड़े गए हैं। जिसके बाद प्रदेश में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक खुफिया एजेंसियों से मिली सूचना के आधार पर मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने पंजाब में हाई अलर्ट जारी किया है। इसी के मद्देनजर पाकिस्तान से सटी हुई सीमाओं पर रेड अलर्ट जारी किया गया है। 

इसे भी पढ़ें: राजनयिक इतिहास की पहली घटना, अफगानी राजदूतों ने विश्व नेताओं से तालिबानी सरकार को मान्यता नहीं देने की अपील की 

आतंकी मॉड्यूल का पर्दाफाश

आतंकवादी लगातार भारत की सीमा में घुसपैठ की कोशिशें करते रहते हैं लेकिन सुरक्षाबल लगातार उनके मंजूबों को नेस्तानाबूत कर देते हैं। इसी कड़ी में दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने पाकिस्तान समर्थित आतंकवादी मॉड्यूल का पर्दाफाश किया था। जिसके तहत दो आतंकवादी समेत 6 लोगों की गिरफ्तारी हुई थी।

इसके बाद पंजाब पुलिस को भी सफलता प्राप्त हुई थी। पंजाब पुलिस ने आईएसआई समर्थित आतंकवादी मॉड्यूल के चार सदस्यों को गिरफ्तार किया है। जिन्होंने 8 अगस्त को आईईडी टिफिन बम से आयल टैंकर को उड़ाने की साजिश रची थी।

पुलिस महानिदेशक दिनकर गुप्ता ने बताया कि पाकिस्तान के आतंकवादी और पाकिस्तानी खुफिया अधिकारी ‘कासिम’ की पहचान की गई है और अमृतसर में विस्फोट के मामले में उसका नाम दर्ज है। वे ही मॉड्यूल में शामिल हैं। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान स्थित इंटरनेशनल सिख यूथ फेडरेशन के प्रमुख लखबीर सिंह रोडे और लखबीर सिंह का भी आतंकवादी मॉड्यूल में हाथ है। दोनों पंजाब के मोगा जिले के रोडे के निवासी हैं और फिलहाल पाकिस्तान में रहते हैं। 

इसे भी पढ़ें: पाकिस्तानी आतंकी माड्यूल का पर्दाफाश, दिल्ली पुलिस ने 6 आतंकवादियों को किया गिरफ्तार 

पठानकोट में सुरक्षा बढ़ाई गई

आतंकवादी हमले की आशंका के चलते पठानकोट में सुरक्षा बढ़ा दी गई है। पुलिस लगातार पेट्रोलिंग कर रही है और आवाजाही वाहनों की तलाशी ली जा रही है। वहीं, जम्मू-कश्मीर और हिमाचल प्रदेश की सीमाओं को सील कर दिया गया है।

वहीं कुछ वक्त पहले खबर सामने आई थी कि आईएसआई पिछले दो महीने से कश्मीर घाटी में आतंकियों को भेजने की कोशिश कर रहा है। ऐसे में कश्मीर के सीमांत इलाकों में आतंकवादियों की संख्या में बढ़ोत्तरी हो सकती है। फिलहाल 200 के करीब आतंकवादी सक्रिय हैं। हालांकि आतंकवादियों की घुसपैठ की कोशिशों के बीच सुरक्षा एजेंसियां भी सतर्क हो गई हैं। सीमावर्ती गांवों पर निगरानी बढ़ा दी गई हैं।