कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एम सत्यनारायण राव का निधन

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 27, 2021   14:38
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एम सत्यनारायण राव का निधन

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एम सत्यनारायण राव का निधन हो गया।एमएसआर के नाम से चर्चित मेनेनी सत्यनारायण राव (88) का जन्म करीमनगर जिले के वेदिरा गांव में हुआ था। उन्होंने 1969 से 1971 तक तेलंगाना आंदोलन में हिस्सा लिया। तीन बार सांसद रहे राव अविभाजित आंध्र प्रदेश में प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष थे।

हैदराबाद। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री एम सत्यनारायण राव का मंगलवार को निधन हो गया। पार्टी के सूत्रों ने बताया कि राव पिछले कुछ समय से बीमार थे और सरकारी निम्स अस्पताल में उनका उपचार चल रहा था। उन्होंने तड़के पौने तीन बजे अंतिम सांस ली। राव के परिवार में उनकी पत्नी, दो बेटियां और दो बेटे हैं। एमएसआर के नाम से चर्चित मेनेनी सत्यनारायण राव (88) का जन्म करीमनगर जिले के वेदिरा गांव में हुआ था। उन्होंने 1969 से 1971 तक तेलंगाना आंदोलन में हिस्सा लिया। तीन बार सांसद रहे राव अविभाजित आंध्र प्रदेश में प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष थे।

इसे भी पढ़ें: कोरोना के हालात पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, केंद्र सरकार ने दाखिल किया अपना जवाब

वाई एस राजशेखर रेड्डी के नेतृत्व वाली सरकार में वह मंत्री रहे थे। तेलंगाना के मुख्यमंत्री चंद्रशेखर राव ने एक बयान में कहा, ‘‘तेलंगाना के समर्थक के तौर पर, संयुक्त राज्य में सांसद, मंत्री और सड़क परिवहन निगम के अध्यक्ष के तौर पर एमएसआर ने एक विशेष शैली दिखाई और राजनीति में उन्हें ईमानदार व्यक्ति के तौर पर जाना जाता था।’’ मुख्यमंत्री ने सत्यनारायण राव के परिवार के सदस्यों से अपनी गहरी संवेदना प्रकट की है। मुख्यमंत्री ने मुख्य सचिव सोमेश कुमार को एमएसआर का अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ कराए जाने के लिए इंजताम करने को कहा है। गृह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी, तेलंगाना प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष और नलगोंडा के सांसद एन उत्तम कुमार रेड्डी, तेलंगाना के भाजपा अध्यक्ष और करीमनगर के सांसद बी संजय कुमार समेत अन्य नेताओं ने एमएसआर के निधन पर शोक जताया है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।