अमित शाह सप्ताहांत में करेंगे असम और मणिपुर का दौरा, जानिए कौन-कौन से कार्यक्रम में होंगे शामिल

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  दिसंबर 24, 2020   18:35
अमित शाह सप्ताहांत में करेंगे असम और मणिपुर का दौरा, जानिए कौन-कौन से कार्यक्रम में होंगे शामिल

गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि ‘नामघरों’ को वित्तीय अनुदान का वितरण करने के अलावा शाह बाताद्रव्य थान को सांस्कृतिक और पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने के लिए आधारशिला रखेंगे।

नयी दिल्ली। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह 26 दिसंबर से असम और मणिपुर का दो दिवसीय दौरा करेंगे। इस दौरान वह गुवाहाटी में एक मेडिकल कॉलेज की आधारशिला रखेंगे और असम दर्शन कार्यक्रम के तहत 8,000 ‘नामघरों’ या वैष्णवों के मठों को वित्तीय अनुदान वितरित करेंगे। अधिकारियों ने बृहस्पतिवार को इस बारे में बताया। मणिपुर में, केंद्रीय मंत्री चूराचंद्रपुर मेडिकल कॉलेज, म्योंगखोंग में एक आईआईटी, इंफाल में सरकारी अतिथि गृह, राज्य के पुलिस मुख्यालय और एकीकृत कमान और नियंत्रण केंद्र की आधारशिला रखेंगे। 

इसे भी पढ़ें: कोरोना महामारी के बीच साल 2020 में इन राजनीतिक घटनाक्रमों का गवाह बना देश 

गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि ‘नामघरों’ को वित्तीय अनुदान का वितरण करने के अलावा शाह बाताद्रव्य थान को सांस्कृतिक और पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने के लिए आधारशिला रखेंगे। असम के नगांव जिले में वैष्णव संप्रदाय के मठ बाताद्रव्य थान की स्थापना 15 वीं-16 वीं सदी के असमिया संत-विद्वान, कवि और समाज सुधारक श्रीमंत शंकरदेव ने की थी। शाह गुवाहाटी में एक नए मेडिकल कॉलेज की आधारशिला भी रखेंगे। शहर में यह दूसरा मेडिकल कॉलेज होगा। इसके अलावा नौ नए विधि कॉलेज भी राज्य में बनाए जाएंगे। असम के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल गुवाहाटी में कार्यक्रमों में शिरकत करेंगे। मणिपुर के मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह, इंफाल के कार्यक्रमों में मौजूद रहेंगे।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।