पीठ में छूरा घोंपने वाले संजय राउत के आरोप पर शिंदे गुट का पलटवार, कहा- उनको पता है किसने पार्टी का कितना नुकसान किया

Sanjay Raut
ANI
अभिनय आकाश । Jun 30, 2022 2:25PM
शिवसेना के बागी विधायक दीपक केसरकर ने कहा कि एकनाथ शिंदे मुंबई के लिए रवाना हो गए हैं। उन्होंने कहा है कि जो भी फैसला होगा, वह राज्य के विकास के लिए होगा। हमने किसी की पीठ में छुरा नहीं घोंपा है।

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) द्वारा जल्द ही राज्य में अगली सरकार बनाने का दावा पेश करने की संभावना है। देवेंद्र फडणवीस कल मुख्यमंत्री पद की शपथ ले सकते हैं। इसके अलावा शिंदे गुट से 13 मंत्री भी बनाए जा सकते हैं। शिवसेना के बागी नेता एकनाथ शिंदे गोवा से मुंबई के लिए रवाना हो गए हैं। मुंबई पहुंचकर वे राज्यपाल को 49 विधायकों के हस्ताक्षर वाले समर्थन पत्र सौंपेंगे। वहीं महाराष्ट्र के सियासी खेल के बीच आरोप प्रत्यारोप का भी दौर चल रहा है। शिवसेना के बागी विधायक दीपक केसरकर ने कहा कि एकनाथ शिंदे मुंबई के लिए रवाना हो गए हैं। उन्होंने कहा है कि जो भी फैसला होगा, वह राज्य के विकास के लिए होगा। हमने किसी की पीठ में छुरा नहीं घोंपा है, संजय राउत के ऐसे बयान सिर्फ लोगों में नाराजगी फैलाने के लिए हैं। कल मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने इस्तीफा दे दिया था। हम किसी भी तरह के जश्न में शामिल नहीं हुए क्योंकि उन्हें हटाना हमारा इरादा नहीं था। हम अभी भी शिवसेना में हैं और उद्धव ठाकरे को चोट पहुँचाना और उनका अपमान करना हमारा इरादा नहीं है। 

इसे भी पढ़ें: 49 विधायकों का समर्थन पत्र लेकर शिंदे गोवा से मुंबई के लिए रवाना, जानें महाराष्ट्र में कैसी होगी नई सरकार?

महाविकास अघाड़ी सरकार गिरने के बाद शिवसेना नेता संजय राउत ने एक फोटो पोस्ट की है। तस्वीर में यह दिखाने की कोशिश हुई है कि सरकार पर पीछे से वार किया गया। इसके साथ राउत ने लिखा कि ऐसा सच में हुआ। पार्टी के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कल रात को इस्तीफा दिया। सर्वोच्च न्यायालय से जिस तरह का फैसला आया, उसके बाद उनके लिए पद पर रहना उचित नहीं था। वो बहुत ही नैतिकता की राजनीति करने वाले नेता हैं। 2.5 साल तक उद्धव जी के नेतृत्व में सरकार चली, लेकिन उन्होंने जाते-जाते ये बात कही कि हमारे ही लोगों ने मुझसे गद्दारी की इसलिए अब मैं ये सरकार नहीं चला सकता हूं। शिवसेना सत्ता के लिए पैदा नहीं हुई है, सत्ता शिवसेना के लिए पैदा हुई है। यह हमेशा से बालासाहेब ठाकरे का मंत्र रहा है। हम काम करेंगे और एक बार फिर अपने दम पर सत्ता में आएंगे। कल जब उद्धव ठाकरे ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दिया तो हम भावुक हो गए। उद्धव ठाकरे पर सभी को भरोसा है। हर जाति और धर्म के लोग उनका समर्थन करते हैं। सोनिया गांधी और शरद पवार को उन पर भरोसा है। 

अन्य न्यूज़