कंगना से मुकाबले के लिए उर्मिला को अपने खेमे में लेकर आई शिवसेना, थमाया विधान परिषद का टिकट

urmila matondkar
शिवसेना के मुख्य प्रवक्ता संजय राउत ने बताया कि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने इस मामले में उर्मिला मातोंडकर से बात की है। वह शिवसेना द्वारा नामित किए जाने के लिए सहमत हैं।

मुंबई। कांग्रेस के टिकट से लोकसभा चुनाव लड़ने वाली फिल्म अभिनेत्री उर्मिला मातोंडकर को शिवसेना अपने कोटे से विधान परिषद का टिकट देने वाली है। पार्टी सूत्रों ने बताया कि उर्मिला मातोंडकर को राज्यपाल नियुक्त कोटे से शिवसेना के टिकट पर विधान परिषद का सदस्य बनाया जा सकता है। शिवसेना के मुख्य प्रवक्ता संजय राउत ने अंग्रेजी समाचार पत्र द इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने इस मामले में उर्मिला मातोंडकर से बात की है। वह शिवसेना द्वारा नामित किए जाने के लिए सहमत हैं। 

इसे भी पढ़ें: शरद पवार चला रहे राज्य, मुख्यमंत्री ठाकरे से मिलने का कोई फायदा नहीं: चंद्रकांत पाटिल 

महा विकास अघाड़ी सरकार राज्य विधायिका के उच्च सदन में नामांकन के लिए राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी को 12 नामों की सिफारिश करेगी। वहीं, खबर यह भी है कि उर्मिला मातोंडकर को शिवसेना का प्रवक्ता भी नियुक्त किया जा सकता है।

उर्मिला मातोंडकर ने 2019 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की टिकट पर उत्तरी मुंबई से चुनाव लड़ा था लेकिन वह भाजपा के गोपाल शेट्टी से हार गईं थीं। भले ही उर्मिला मातोंडकर चुनाव हार गईं हों लेकिन उन्होंने हाल ही में कंगना रनौत और महाराष्ट्र सरकार के बीच छिड़ी जंग में कंगना को घेरने की कोशिश की थी। 

इसे भी पढ़ें: उद्धव ठाकरे ने हिमाचल को कहा गांजे की खेती वाला प्रदेश, कंगना ने दिया करारा जवाब 

महाराष्ट्र कैबिनेट ने गुरुवार को एक प्रस्ताव को मंजूरी दी, जिसमें मुख्यमंत्री को परिषद में नामांकन के लिए राज्यपाल को 12 नाम भेजने के लिए अधिकृत किया गया। सूत्रों ने कहा कि सत्तारूढ़ सहयोगी शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस ने चार-चार नामों की सिफारिश की है।

एकनाथ खड़से को भी मिलेगा विधान परिषद का टिकट !

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक भाजपा से एनसीपी में आए एकनाथ खड़से को विधान परिषद का टिकट दिया जा सकता है। इसके साथ ही उन्हें महा विकास अघाड़ी सरकार में मंत्री भी बनाया जा सकता है।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़