मुंगेर में हुई घटना को लेकर शिवसेना ने सामना के जरिये साधा बीजेपी पर निशाना

Shiv Sena
शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना के एक संपादकीय में कहा कि भाजपा ने इस साल अप्रैल में महाराष्ट्र के पालघर जिले में भीड़ द्वारा दो साधुओं की हत्या के मामले को सांप्रदायिक रंग देने में तो बड़ी फुर्ती दिखाई थी।

मुंबई। शिवसेना ने बिहार के मुंगेर में दुर्गा प्रतिमा विसर्जन के दौरान हुई गोलीबारी की घटना पर भाजपा की चुप्पी के लिये उस पर निशाना साधा। बिहार में नीतीश कुमार नीत जदयू और भाजपा की सरकार है। शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना के एक संपादकीय में कहा कि भाजपा ने इस साल अप्रैल में महाराष्ट्र के पालघर जिले में भीड़ द्वारा दो साधुओं की हत्या के मामले को सांप्रदायिक रंग देने में तो बड़ी फुर्ती दिखाई थी। मुंगेर के दीनदयाल उपाध्याय चौक पर सोमवार देर रात दुर्गा प्रतिमा विसर्जन के दौरान हुई गोलीबारी और पथराव में एक व्यक्ति की मौत हो गई थी जबकि सुरक्षाकर्मियों समेत दो दर्जन से अधिक लोग घायल हो गए थे। संपादकीय में सवाल किया गया है, अगर यह घटना महाराष्ट्र या बंगाल (विपक्ष शासित राज्यों) में हुई होती तो भाजपा हंगामा खड़ा कर देती। 

इसे भी पढ़ें: नड्डा का RJD पर तंज, ‘तेल पिलावन-डंडा भजावन’ वाले लोग नहीं कर सकते बिहार का विकास

पालघर लिंचिंग को सांप्रदायिक रंग देने की कोशिश करने वाले मुंगेर पर चुप क्यों हैं? संपादकीय में कहा गया है, फर्जी हिंदूत्ववादियों को भगवती दुर्गा का अपमान नहीं दिखा और उसके बाद हुई गोलीबारी क्या यह जंगलराज की मिसाल नहीं है? क्या भाजपा ने धर्मनिरपेक्षता का चश्मा लगा लिया है? कांग्रेस की महाराष्ट्र इकाई के प्रवक्ता सचिन सावंत ने भी भाजपा पर निशाना साधा। उन्होंने कहा, जब पालघर की घटना हुई थी, तब भाजपा ने महाराष्ट्र के गृह मंत्री का इस्तीफा मांगा था। लेकिन मुंगेर को लेकर पार्टी के मुंह से एक शब्द नहीं निकला।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़