एल्गार मामले में शोमा सेन की अग्रिम जमानत याचिका खारिज

Elgar Parishad
प्रतिरूप फोटो
याचिका में कहा गया था कि सेन वयोवृद्ध हैं और उन्हें ग्लूकोमा तथा उच्च रक्त चाप समेत कई बीमारियां हैं जिसके कारण उन्हें कोविड-19 होने की आशंका है। सेन को 2018 में गिरफ्तार किया गया था और वह भायखला के महिला कारागार में बंद हैं।

 एल्गार परिषद माओवादी संबंध मामले में आरोपी शोमा सेन की चिकित्सकीय आधार पर अग्रिम जमानत याचिका को यहां मंगलवार को एक विशेष एनआईए अदालत ने खारिज कर दिया।

न्यायाधीश डी ई कोठलीकार ने 61 वर्षीय सेन की याचिका खारिज कर दी। याचिका में कहा गया था कि सेन वयोवृद्ध हैं और उन्हें ग्लूकोमा तथा उच्च रक्त चाप समेत कई बीमारियां हैं जिसके कारण उन्हें कोविड-19 होने की आशंका है। सेन को 2018 में गिरफ्तार किया गया था और वह भायखला के महिला कारागार में बंद हैं।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़