श्रीकृष्ण जन्मभूमि विवाद: हिंदू संगठन ने सर्वसम्मत समाधान के लिए अदालत का रुख किया

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जून 23, 2021   11:09
श्रीकृष्ण जन्मभूमि विवाद: हिंदू संगठन ने सर्वसम्मत समाधान के लिए अदालत का रुख किया

एक हिंदू संगठन ने मंगलवार को मथुरा की एक अदालत में याचिका दायर कर कटरा केशव देव मंदिर में कथित तौर पर स्थित 17वीं सदी की शाही मस्जिद से बड़ा भूखंड देने की पेशकश की, अगर मस्जिद प्रबंधन समिति स्वेच्छा से मुगल काल की मस्जिद को खुद से ध्वस्त करने के लिए सहमत हो जाती है।

मथुरा। एक हिंदू संगठन ने मंगलवार को मथुरा की एक अदालत में याचिका दायर कर कटरा केशव देव मंदिर में कथित तौर पर स्थित 17वीं सदी की शाही मस्जिद से बड़ा भूखंड देने की पेशकश की, अगर मस्जिद प्रबंधन समिति स्वेच्छा से मुगल काल की मस्जिद को खुद से ध्वस्त करने के लिए सहमत हो जाती है।

इसे भी पढ़ें: धीमी पड़ी वैक्सीनेशन की रफ्तार, कांग्रेस ने उठाया सवाल, बोले- फिर से पुरानी स्थिति लौटे

श्रीकृष्ण जन्मभूमि मुक्ति आंदोलन समिति ने मथुरा के वरिष्ठ सिविल जज की अदालत में दायर अपनी अर्जी में कहा कि वह मंदिर शहर के चौरासी कोस परिक्रमा क्षेत्र के बाहर मस्जिद प्रबंधन समिति को एक बड़ा भूखंड देगी। श्रीकृष्ण जन्मभूमि मुक्ति आंदोलन समिति के अध्यक्ष अधिवक्ता महेंद्र प्रताप सिंह ने कहा, इंतजामिया समिति (प्रबंधन समिति) को शाही मस्जिद ईदगाह की जमीन से अधिक जमीन दी जाएगी।

इसे भी पढ़ें: कांग्रेस ने उठाए भाजपा पर सवाल, अधीर रंजन चौधरी ने बंगाल विभाजन की मांग को बताया बड़ी साजिश

संगठन ने कहा कि अगर मस्जिद की प्रबंधन समिति स्वेच्छा से मौजूदा शाही मस्जिद ईदगाह को ध्वस्त कर देती है और जमीन समिति को सौंप दी जाती है तो वह चौरासी कोस परिक्रमा की परिधि के बाहर कुछ और जमीन भी देगी। वरिष्ठ दीवानी न्यायाधीश के अवकाश पर होने के कारण आवेदन सिविल न्यायाधीश द्वितीय अनुपम सिंह को सौंपा गया।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।