स्मृति ईरानी बोलीं, पाकिस्तान और कांग्रेसी नेता सिद्धू के बीच सांठ-गांठ

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Feb 20 2019 8:00PM
स्मृति ईरानी बोलीं, पाकिस्तान और कांग्रेसी नेता सिद्धू के बीच सांठ-गांठ
Image Source: Google

कल भारतीय सेना की जो प्रेस कॉन्फ्रेंस हुई पर ध्यान दिलाते हुए कहा कि सेना ने कहा मात्र 100 घंटे की जैश ए मोहमद की लीडरशिप को घाटी में समाप्त कर दिया गया है।

लोकसभा चुनाव से पहले भारतीय जनता पार्टी ने अपने प्रचार- प्रसार प्रारंभ कर दिया है। लोकसभा चुनाव से पहले भारतीय जनता पार्टी " भारत के मन की बात, मोदी के साथ" कार्यक्रम पूरे देश में चला रही है और इस कार्यक्रम के तहत प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में स्मृति ईरानी पहुंची। सबसे पहले स्मृति ईरानी अस्सी घाट पर मल्लाह समाज के लोगों की मन की बात की और उनकी समस्याओं को जाना, जिसके बाद स्मृति ईरानी वाराणसी के छोटे व्यापारी और प्रबुद्ध जनों से लोकसभा चुनाव के संकल्प पत्र को लेकर सुझाव मांगे। इस दौरान स्मृति ईरानी ने पुलवामा हमले को लेकर पाकिस्तान और कांग्रेसी नेता नवजोत सिंह सिद्धू पर जमकर निशाना साधा। साथी स्मृति ईरानी ने साफ संदेश दिया कि इस माहौल में किसी खेल का ख्याल होना भी नहीं चाहिए। केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के द्वारा पुलवामा हमले पर दिए गए बयान और उसके बाद पाकिस्तानी खिलाड़ियों के द्वारा उसके समर्थन किए जाने के बाद भारत में पाकिस्तान टीम के क्रिकेट नहीं खेले जाने की मांग पर कहा कि मैं इतना ही कहना चाहूंगी कि बनारस के सांसद ने प्रधान सेवक ने स्वयं ही घोषणा की कि पुलवामा की घटना के बाद भारत की सेना स्वतंत्र है कोई भी एक्शन लेने के लिए।

कल भारतीय सेना की जो प्रेस कॉन्फ्रेंस हुई पर ध्यान दिलाते हुए कहा कि सेना ने कहा मात्र 100 घंटे की जैश ए मोहमद की लीडरशिप को घाटी में समाप्त कर दिया गया है। यह अभी आवाहन हुआ आर्मी के माध्यम से कि जिन लोगों की आतंक फैलाने की मंशा है वह सरकार की सरेंडर पॉलिसी के तहत सरेंडर कर दें ना करने पर भारत की सेना सक्षम है ऐसे लोगों को ठिकाने पहुंचाने के लिए। आपको याद होगा कि पाकिस्तान के पास मोस्ट फॉरवर्ड नेशन का 90 के दशक से पाकिस्तान के पास सुविधा थी वह प्रधानमंत्री जी के आदेश के बाद समाप्त कर ली गई। जो लोग भारत को आतंकित करने का प्रयास करते थे जो लोग प्रदेश सरकार से सिक्योरिटी प्राप्त कर रहे थे उन लोगों से भी वह हटा ली गई है। मैं स्वयं भारत की कमेंट का एक हिस्सा हूं मैं इतना ही कहना चाहूंगी कि 26 / 11 में 1000 कट की बात की थी लेकिन पाकिस्तान के प्रधानमंत्री का वीडियो जब आया हिंदुस्तान की मीडिया ने देखा और जाना तो वह 23 कट के बगैर बोल नहीं सकते मेरा तो इतना मानना है कि हिंदुस्तान की आवाम और जनता को  नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारतीय सेना के जौहर में और क्षमता में पूर्ण विश्वास है और इंसाफ तक इन लोगों को पहुंचाया जाएगा। 

 
 


जैसा कि प्रधानमंत्री जी ने कहा अगले ही दिन कहा था कि जिन लोगों ने यह हत्या कांड किया उन्हें उनकी बहुत भारी कीमत चुकानी पड़ेगी डिप्लोमेटिक रूप से और आर्मी की तरफ से जो जो कदम उठाए जा रहे हैं आर्मी और मिनिस्ट्री ऑफ एक्सटर्नल अफेयर की ओर से उस पर विस्तृत जानकारी देगी। मेरा इतना मानना है कि वह लोग जो पाकिस्तान के प्रधानमंत्री को अपना दोस्त बताते हैं वह लोग जो अपने ठहाके लगाते हैं और पाकिस्तान का दोष नही देखते हैं। ऐसे भारत के आधुनिक भारत के जयचन्दों के बारे में भारत की जनता क्या इमोशन रखती है यह भारत की जनता स्वयं बता सकती है और मैं क्योंकि खेल मंत्रालय से संबंधित नहीं हूं लेकिन हिंदुस्तानी होने के नाते मैं इतना कह सकती हूं कि जब भारतीय सेना और सुरक्षा बल तैनात हो एक एक पाकिस्तानी जो हिंदुस्तान में खराब मनसा के साथ आया उसे इंसाफ तक पहुचाया जाए जब हमारे सुर वीरों की पत्नियां खून के आंसू रो रही हैं ऐसे में खेल का ख्याल किसी को नहीं आना चाहिए।
 

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video