समाजसेवक गौरव कपूर ने अन्नपूर्णा निशुल्क चिकित्सालय को ऑक्सीजन कन्संट्रेटर उपलब्ध करवाया

समाजसेवक गौरव कपूर ने अन्नपूर्णा निशुल्क चिकित्सालय को ऑक्सीजन कन्संट्रेटर उपलब्ध करवाया

इसी क्रम में वाराणसी के समाजसेवक गौरव कपूर ने अन्नपूर्णा मंदिर के सौजन्य से चलाये जाने वाले अन्नपूर्णा निशुल्क चिकित्सालय को मंगलवार को एक ऑक्सीजन कन्संट्रेटर उपलब्ध करवाया।

कोरोना महामारी की दूसरी लहर में ऑक्सीजन कन्संट्रेटर की डिमांड बढ़ी है। यह जीवन रक्षक यंत्र बनकर समाज में इस समय काफी चर्चित है और कई समाजसेवी संस्थाएं अस्पतालों और जिला प्रशासन को ऑक्सीजन कन्संट्रेटर उपलब्ध करवा रही हैं। इसी क्रम में वाराणसी के समाजसेवक गौरव कपूर ने अन्नपूर्णा मंदिर के सौजन्य से चलाये जाने वाले अन्नपूर्णा निशुल्क चिकित्सालय को मंगलवार को एक ऑक्सीजन कन्संट्रेटर उपलब्ध करवाया। 

इसे भी पढ़ें: योगी सरकार के प्लान के अनुसार वाराणसी मंडल में लगेंगे 1.5 करोड़ पौधे, हर पौधे के होंगे अलग लाभ

गौरव कपूर ने यह ऑक्सीजन कन्संट्रेटर मंदिर के उप महंत शंकर पुरी को सौंपा और आगे भी मदद का आश्वासन दिया। कोरोना महामारी के बीच ऑक्सीजन की बढ़ी डिमांड को देखते हुए आम जन तक ऑक्सीजन पहुँचने का बीड़ा उठाने वाले समाजसेवी गौरव कपूर ने मंगलवार को श्री काशी अन्नपूर्णा मठ मन्दिर के सौजन्य से चलाए जाने वाले काशी अन्नपूर्णा निःशुल्क चिकित्सालय रामकुण्ड को एक ऑक्सीजन कंसेंन्ट्रेटर दिया। चिकित्सालय को दिए जा रहे इस ऑक्सीजन कंसेंन्ट्रेटर में मंदिर की ओर से उप महन्त शंकर पुरी के मार्गदर्शन में पहले इस ऑक्सीजन कंसेंन्ट्रेटर का विधि विधान से पूजन अर्चन किया गया। 

इसे भी पढ़ें: बीजेपी नि‍र्वि‍रोध जीती, वाराणसी में जि‍ला पंचायत अध्‍यक्ष पद के लि‍ये सपा प्रत्याशी का पर्चा खारिज

उप महन्त शंकर पूरी ने कहा कि आज यह मशीन चिकित्सालय को समाजसेवा के लिए प्राप्त की गयी है। इससे यहां आने वाले मरीजो की सेवा की जाएगी। वहीं समाजसेवी गौरव कपूर ने बताया कि असल समाजसेवा यही है कि कोई किसी के काम आ सके। निशुल्क चिकित्सालय में ज़्यादातर वही लोग गरीब होते हैं। ऐसे में यह कन्संट्रेटर उनके लिए जीवनदायी बनेगा।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।