योगी सरकार के प्लान के अनुसार वाराणसी मंडल में लगेंगे 1.5 करोड़ पौधे, हर पौधे के होंगे अलग लाभ

योगी सरकार के प्लान के अनुसार वाराणसी मंडल में लगेंगे 1.5 करोड़ पौधे, हर पौधे के होंगे अलग लाभ

वायुमण्डल में शुद्ध ऑक्सीजन की मात्रा को बढ़ाने और वातावरण को संरक्षित करने में मदद मिलेगी। वाराणसी सर्किल  के मुख्य वन संरक्षक और प्रभारी वन संरक्षक ने जानकारी दी है कि इस साल ऐसी प्रजातियों के पौधों को लगाने पर ज़ोर है, जो हवा को ज़्यादा शुद्ध कर सकें।

उत्तर प्रदेश में योगी सरकार इस साल पौधारोपण का महाभियान चलाने वाली है। इसके लिए वन विभाग ने भी पूरी तरह से तैयारी कर ली है। इस साल ऐसे पौधों को लगाने पर जोर दिया जा रहा है, जो हवा को ज्यादा अच्छे तरीके शुद्ध कर सकें। पर्यावरण  संरक्षण  के साथ ही वायुमंडल में अधिक ऑक्सीजन देने वाले पौधों को लगाने की योजना है। इसी क्रम में वाराणसी मंडल में इस बार 1 करोड़ 55 लाख पौधे लगाए जाने हैं। अकेले वाराणसी में 18 लाख पौधे रोपित किए जाएंगे। सभी सरकारी विभाग इस महाअभियान में शामिल होंगे और पौधे लगाएंगे।

शुद्ध ऑक्सीजन वाले पौधों को लगाने पर जोर

गौरतलब है कि इससे वायुमण्डल में शुद्ध ऑक्सीजन की मात्रा को बढ़ाने और वातावरण को संरक्षित करने में मदद मिलेगी। वाराणसी सर्किल  के मुख्य वन संरक्षक और प्रभारी वन संरक्षक ने जानकारी दी है कि इस साल ऐसी प्रजातियों के पौधों को लगाने पर ज़ोर है, जो हवा को ज़्यादा शुद्ध कर सकें। उन्होंने बताया कि सभी पौधे ऑक्सीजन देते हैं, लेकिन फ़लदार और ऑक्सीजन देने वाले पौधों को अधिक लगाने की योजना बनाई गई है। 

साइकस, पीपल, पाकड़, बरगद, अर्जुन, जामुन, आवला ,अमरुद, आम, सागौन, शीशम आदि के ज़्यादा पौधों  के रोपण की तैयारी है। अकेले वाराणसी में क़रीब 18 लाख पौधे लगाने का लक्ष्य रखा गया है। गाज़ीपुर में क़रीब 38 लाख, जौनपुर में लगभग 50 लाख ,चंदौली में 49 लाख पौधे लगाए जाने हैं।  सभी जिलों को मिलाकर वाराणसी मंडल में करीब 1 करोड़ 55 लाख पौधे लगेंगे।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।