सोनभद्र पर संग्रामः प्रियंका से मिलने चुनार पहुँचे पीड़ितों के परिजन, गले लग कर रोईं महिलाएं

By नीरज कुमार दुबे | Publish Date: Jul 20 2019 11:52AM
सोनभद्र पर संग्रामः प्रियंका से मिलने चुनार पहुँचे पीड़ितों के परिजन, गले लग कर रोईं महिलाएं
Image Source: Google

महिलाओं को रोते देख प्रियंका भी भावुक हो गईं। उन्होंने महिलाओं से बातचीत की और उन्हें पानी पीने के लिए कहा। प्रियंका गांधी ने कहा कि मैं इनसे मिलने के लिए इनके पास जाना चाहती थी लेकिन प्रशासन ने मुझे जाने नहीं दिया।

सोनभद्र में हुए खूनी संग्राम पर कांग्रेस की सियासत जारी है। आज सुबह चुनार के गेस्ट हाउस के बगीचे में पीड़ित परिवार की महिलाएं प्रियंका गांधी से मिलने के लिए पहुँची। महिलाओं को रोते देख प्रियंका भी भावुक हो गईं और महिलाएं उनके गले लग कर रो पड़ीं। उन्होंने महिलाओं से बातचीत की और उन्हें पानी पीने के लिए कहा। प्रियंका गांधी ने कहा कि मैं इनसे मिलने के लिए इनके पास जाना चाहती थी लेकिन प्रशासन ने मुझे जाने नहीं दिया और इन लोगों को मेरे पास आना पड़ा है।



इससे पहले, पिछले बुधवार को हुए गोलीकांड में मारे गए लोगों के परिजनों से मुलाकात करने से रोकी गयीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने वापस लौट जाने की अधिकारियों की सलाह नहीं मानते हुए चुनार गेस्ट हाउस में रात काटी। प्रियंका और अधिकारियों के बीच रात करीब 12:00 बजे से 1:15 बजे तक चली दूसरे दौर की बातचीत भी नाकाम रही और प्रियंका तथा उनके सैंकड़ों समर्थक चुनार गेस्ट हाउस में ही डटे रहे।
 


इस बीच, कांग्रेस ने राज्य की योगी आदित्यनाथ सरकार पर निशाना साधा और सवाल किया कि आखिर वह प्रियंका से डरी हुई क्यों है। पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा, "क्या पूरे उम्भा गाँव (सोनभद्र) को पुलिस छावनी में बदलकर सच दबा पाएगी आदित्यनाथ सरकार? भाजपा सरकार को प्रियंका गांधी से डर क्यों लगता है?' उन्होंने सवाल किया, 'जब गाँव के लोग प्रियंका जी से मिलकर न्याय की गुहार लगाने का इंतज़ार कर रहे हैं तो गाँव के चप्पे-चप्पे पर पुलिस का पहरा क्यों?'
 

 


रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video