अपने अस्तित्व को बचाने के लिए साथ आए हैं सपा, बसपा: BJP

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Jan 12 2019 1:59PM
अपने अस्तित्व को बचाने के लिए साथ आए हैं सपा, बसपा: BJP

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि सपा और बसपा ने देश या उत्तरप्रदेश के लिये गठबंधन नहीं किया है, दरअसल वे अपने अस्तित्व के लिये साथ आए हैं।

नयी दिल्ली। भाजपा ने शनिवार को कहा कि उत्तरप्रदेश में सपा और बसपा सिर्फ अपने अस्तित्व को बचाने के लिये साथ आई हैं। पार्टी ने इस गठबंधन को तवज्जो नहीं देते हुए जोर दिया कि आगामी लोकसभा चुनाव में इसका कोई खास प्रभाव नहीं पड़ेगा। भाजपा के वरिष्ठ नेता रविशंकर प्रसाद ने कहा, ‘सपा और बसपा ने देश या उत्तरप्रदेश के लिये गठबंधन नहीं किया है, दरअसल वे अपने अस्तित्व के लिये साथ आए हैं। वे अपने बल पर मोदी का मुकाबला नहीं कर सकते और मोदी विरोध ही इनके गठबंधन का आधार है।’

इसे भी पढ़ें : बुआ-बबुआ ने किया लोकसभा सीटों का ऐलान, BJP पर लगाए ये बड़े आरोप

उन्होंने इन बातों को भी तवज्जो नहीं दी कि कभी एक दूसरे के विरोधी रहे इन दोनों दलों के साथ आने से लोकसभा चुनाव पर कोई प्रभाव पड़ेगा। उन्होंने कहा कि चुनाव केवल गणित का विषय नहीं होता, यह रसायन की भी बात होती है। कई बार दो चीजों के मिलने से तीसरा पदार्थ भी बन जाता है। भाजपा के राष्ट्रीय अधिवेशन के दूसरे दिन प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए भाजपा के वरिष्ठ नेता रविशंकर प्रसाद ने कहा, ‘समय आ गया है जब देश को यह तय करना होगा कि उसे एक मजबूत सरकार चाहिए या फिर मजबूर सरकार चाहिए।’

इसे भी पढ़ें : BJP के अत्याचार को खत्म करने के लिए SP-BSP ने किया गठबंधन

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में देश में समावेशी विकास हुआ है। उन्होंने आरोप लगाया कि दशकों तक देश में शासन करने के बाद कांग्रेस पार्टी आज देश की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ कर रही है। उल्लेखनीय है कि सपा और बसपा आगामी लोकसभा चुनाव में गठबंधन के तहत उत्तर प्रदेश की 38-38 सीटों पर चुनाव लड़ेंगे। दो सीटें छोटी पार्टियों के लिए छोड़ी गई हैं जबकि अमेठी और रायबरेली की दो सीटें कांग्रेस पार्टी के लिए छोड़ना तय किया गया है।

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप


Related Story

Related Video