उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या ने कहा, राम को ना मानने वाले जप रहे राम नाम

उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या ने कहा, राम को ना मानने वाले जप रहे राम नाम

अयोध्या में आयोजित दो दिवसीय ओबीसी वर्ग के प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में शामिल होने पहुंचे उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या ने कहा कि 2022 में 2017 की जीत को दोहराएंगे।

अयोध्या। ओबीसी वर्ग प्रदेश कार्यसमिति की बैठक के समापन के दौरान पहुंचे उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने 2022 में पूर्ण बहुमत की सरकार बनाए जने का दावा किया है. 20 पक्षियों पर भी जमकर हमला बोलते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश में सपा और बसपा प्राइवेट लिमिटेड कंपनियां हैं। जो मालिक कहा वह हो गया।

इसे भी पढ़ें: 26 भाषाओं में अयोध्या की रामलीला से जुड़ेंगे 50 करोड़ दर्शक

अयोध्या में आयोजित दो दिवसीय ओबीसी वर्ग के प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में शामिल होने पहुंचे उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या ने कहा कि 2022 में 2017 की जीत को दोहराएंगे और पूर्ण बहुमत के साथ फिर से प्रदेश में भाजपा की सरकार बनाएंगे हमारा लक्ष्य 2022 भी है और 2024 भी है हमारे कार्यकर्ताओं में अत्यधिक होता है तो वही बताया कि साढ़े 4 वर्षों अच्छा कार्य किया है। और बिना भ्रष्टाचार के सरकार की योजनाएं लोगों तक पहुंची है हमारा संगठन मजबूती के साथ खड़ा है तो वहीं सपा बसपा और कांग्रेस के कारनामों को भी जनता याद रखी हुई है।

इसे भी पढ़ें: दिलीप कुमार निषाद को बनाया गया उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी का प्रदेश सचिव

वही उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव को लेकर राजनीतिक पार्टियों की अयोध्या से चुनावी प्रचार किये जाने को लेकर कहा कि यह भारतीय जनता पार्टी की वैचारिक विजय हैं क्योंकि पहले यही लोग कहते थे कि भगवान श्री राम पैदा हुए ही नहीं कोई राम भक्त अयोध्या आता था तो उसे गोली से मरवा दिया जाता था लेकिन आज उन्हीं को राम नाम का जप करना पड़ रहा है ओम नमः शिवाय करना पड़ रहा है और अयोध्या आकर दर्शन भी करना पड़ रहा है। जो हमारी चुनावी और वैचारिक जीत हुई है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।